Advertisement

Sandeshkhali Violence पर बोले केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, CM ममता कर रहीं लोकतंत्र के चौथे स्तंभ का अपमान

anurag thakur slams mamata banerjee on Sandeshkhali Violence
Share
Advertisement

Sandeshkhali Violence: प. बंगाल के संदेशखाली में महिलाओं पर हुई हिंसा के बाद तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है। भाजपा टीएमसी को आड़े हाथ लेती नजर आ रही है। पीड़ित महिलाएं मांग कर रहें है कि आरोपी शेख शाहजहां और बाकि आरोपी टीएमसी नेताओं को जल्द से जल्द सजा दी जाए। इस पर अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी सीएम ममता पर निशाना साधा है।

Advertisement

Sandeshkhali Violence: ‘बंगाल में महिलाएं खुद को सुरक्षित महसूस नहीं करतीं’

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने संदेशखाली हिंसा पर टीएमसी को जमकर घेरा। उन्होंने कहा, “पश्चिम बंगाल में महिलाएं खुद को सुरक्षित महसूस नहीं करतीं और ऊपर से अब मीडियाकर्मी भी खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। संदेशखाली में जिस तरह से पत्रकार को गिरफ्तार कर रोका गया, वह निंदनीय है। ऐसा नहीं होना चाहिए।

‘ये लोकतंत्र के चौथे स्तंभ का अपमान’

अनुराग ठाकुर ने आगे कहा कि ‘प्रेस की स्वतंत्रता बनाए रखना ये ममता बनर्जी की सरकार की जिम्मेदारी और हर राज्य सरकार की जिम्मेदारी है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि ऐसी घटनाएं दोबारा न हों। यह लोकतंत्र के चौथे स्तंभ का अपमान है।‘

SC पहुंचा संदेशखाली मामला

बता दें कि संदेशखाली हिस्सा का मामला अब सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच चुका है। इन सब के बीच बीजेपी के नेता रविशंकर प्रसाद ने भी बुधवार (22 फरवरी) को संदेशखाली हिंसा को लेकर ममता बनर्जी की टीएमसी सरकार पर हमला बोला था। रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि यह मुद्दा काफी गंभीर हो चुका है। घटना सभ्य समाज के लिए शर्मनाक है। उन्होंने सीएम ममता पर आरोप लगाते हुए कहा था कि “ममता जी इसका अभी भी बचाव कर रही हैं.। शुभेंदु अधिकारी कोर्ट के आदेश पर संदेशखाली गए और महिलाओं ने रो रो कर उनके सामने अपनी बात खी लेकिन ममता जी इस मामले पर क्या और क्यों छुपा रही है।”

ये भी पढ़ें- Manipur: मैतेई समुदाय को ST दर्जा देने पर मणिपुर हाईकोर्ट ने किए फैसले में बदलाव

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरो को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *