Advertisement

ओमिक्रॉन से भी खतरनाक कोरोना का नया वैरिएंट, आंखों पर डाल रहा असर

Share
Advertisement

कोरोना संक्रमण का नया वैरिएंट एक्सबीबी 1.16 आंखों में भी असर डाल रहा है। कोरोना के लक्षण के साथ आंखों में परेशानी के मरीज भी अस्पतालों में आने लगे हैं। कोरोना के जो भी नए मरीज मिल रहे हैं उनमें कौन कोरोना का कौन सा वैरिएंट है, इसका पता होल जीनोम सिक्वेंसिंग की जांच से चलता है। कोरोना के इसी माह अभी तक 30 मरीज मिल चुके हैं,जिनमें से 27 मरीज ग्वालियर के तथा 3 मरीज दूसरे जिलों के हैं। शासन के आदेश हैं कि कोरोना के मरीजों की होल जीनोम सिक्वेंसिंग अवश्य कराई जाए।

Advertisement

इसके बाद भी अभी तक एक भी सैंपल होल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए नहीं भेजा गया है। लिहाजा यह पता ही नहीं चल रहा है कि ग्वालियर में जो मरीज संक्रमित मिल रहे हैं उनमें कोरोना का कौन सा वैरिएंट है। कोरोना के नए वैरिएंट एक्सबीबी 1.16 के बारे में जीआरएमसी के मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर डॉ. अजय पाल सिंह का कहना है कि एक्सबीबी 1.16 कोरोना का नए वैरिएंट है। इसमें कोरोना के सामान्य लक्षण जैसे बुखार, सर्दी, खांसी, जुकाम, नाक में पानी बहने के साथ ही आंखों पर भी असर आया है। आंखों में पानी आना, आंख आना, आंखों में लालपन आना जैसी परेशानी आती है।

यह माना जा रहा है कि यह वायरस ओमिक्रॉन से अधिक तेजी से फैलता है। इसलिए सावधानी ही कोरोना से बचाव है। इसके लिए मास्क का उपयोग करें। भीड़-भाड़ भरे इलाकों में जाने से बचें। अगर किसी को जुकाम, बुखार है तो तुरंत विशेषज्ञ की सलाह लेकर जांच अवश्य कराएं। गर्मी के इस मौसम में एसी से तुरंत बाहर निकलकर धूप में जाने से बचें। अधिक ठंडी चीजों का सेवन न करें। गुनगुना पानी पीएं और पौष्टिक आहार लें तथा बाहर का खाना खाने से बचें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें