Advertisement

Haryana: बाढ़ से हुए नुकसान का सरकार देगी मुआवजा, उप मुख्यमंत्री ने की घोषणा

Share
Advertisement

हरियाणा में लगातार हो रही बारिश के कारण बाढ़ की स्थिती बनी हुई है। ऐसे में लोगों का बेहद नुकसान हुआ है। उनके फसलों, मकानों, पशुओं के साथ-साथ जान को भी हानी हुई है। जिसका मुआवजा सरकार ने देने का फैसला किया है। आपदा से परेशान पीडितों की मदद के लिए हरियाणा सरकार ने कदम बढ़ाया है। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि घर के नुकसान की भरपाई के लिए बाढ़ पीड़ितों को 1.20 लाख रुपये तक की मदद दी जाएगी। बाढ़ के कारण जान गंवाने वालों के पीड़ित परिवारों को चार लाख रुपये मुआवजा मिलेगा। 

Advertisement

प्रदेश सरकार केंद्र से मांगेगी मदद

हरियाणा सरकार ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि मृतक के परिवार को बैंक खातों के माध्यम से मुआवजे की रकम दी जाएगी। फसलों के नुकसान का मुआवजा आकलन पूरा होने के बाद दिया जाएगा। जहां सौ प्रतिशत फसलों के नुकसान की रिपोर्ट आएगी, वहां तुरंत किसानों के खातों में 15 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा दिया जाएगा। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार केंद्र से बाढ़ग्रस्त राज्यों के अनुरूप राहत मांगेगी। इसके लिए जल्द केंद्र को प्रस्ताव भेजा जाएगा।

दुधारू और बिना दुधारू पशुओं की बनेगी श्रेणी

उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने सोमवार को राजस्व एवं आपदा और लोक निर्माण विभाग की बैठक ली और बाढ़ से हुए नुकसान व लोगों की मदद करने पर मंथन किया। उन्होंने बताया कि बाढ़ के कारण पशुपालकों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए दुधारू पशु और बिना दुधारू पशुओं की श्रेणी बनाई गई है। जिला उपायुक्त इसकी रिपोर्ट तैयार करके भेजेंगे। इसके बाद मुआवजा राशि घोषित की जाएगी।

घग्गर नदी का जल स्तर अब भी खतरा

उन्होंने कहा कि बाढ़ से अब तक प्रदेश में करीब 1350 गांव प्रभावित हुए हैं। यह संख्या और भी बढ़ सकती है, क्योंकि घग्गर नदी का जल स्तर अब भी ज्यादा है। सिरसा जिले को अभी मॉनिटर किया जा रहा है। इसके अलावा टूटे बांधों को सही किया जा रहा है। अंबाला, करनाल, पानीपत, सोनीपत में बाढ़ का पानी करीब-करीब उतर चुका है। 

फरीदाबाद में वापस जा रहा बाढ़ का पानी

अंबाला में पीने के पानी की व्यवस्था प्राथमिकता से की जा रही है। उन्होंने कहा कि पानीपत में यमुना नदी दो जगह से टूटी थी, इन बांधों को सही कर दिया गया है। करनाल में भी दो जगह यमुना के तटबंध टूटे थे, इसमें से एक बांध को ठीक कर दिया गया है। फरीदाबाद में बाढ़ का पानी वापस जा रहा है, लेकिन पलवल में बहाव अभी तेज है और यहां नाव की सहायता से बाढ़ पीड़ितों की मदद की जा रही है।

ये भी पढ़े: हरियाणा को CM मनोहर लाल का बड़ा तोहफा, 2741 करोड़ की 347 परियोजनाओं की देंगे सौगात

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें