Advertisement

पार्टी में सुनीता केजरीवाल की बढ़ती भूमिका पर सौरभ भारद्वाज बोले- ‘वो AAP को एकजुट करने के लिए…’

Saurabh Bhardwaj

Saurabh Bhardwaj

Share
Advertisement

Saurabh Bhardwaj: दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल के अरेस्ट हो जाने के बाद पत्नी सुनीता केजरीवाल अपने पति के लिए मुखर आवाज बनकर उभरी हैं। सुनीता की राजनीति में सक्रियता बढ़ गई है। वो लगातार सीएम केजरीवाल का वीडियो संदेश लोगों तक पहुंचाने का काम कर रही हैं। इस कड़ी में अब मंत्री सौरभ भारद्वाज का बड़ा बयान सामने आया है। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि सुनीता केजरीवाल पार्टी को एकजुट करने के लिए बेहतर हैं। 

Advertisement

Saurabh Bhardwaj: ‘सुनीता वर्षों से सीएम केजरीवाल के साथ…’

AAP नेता और दिल्ली सरकार में मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा, “वर्षों से सुनीता केजरीवाल अरविंद केजरीवाल के साथ हैं, सुख में, दुख में… अगर ऐसी शख्सियत पार्टी में रहती हैं तो वे पार्टी में एक गोंद का काम करती हैं और इसे हम एक आशीर्वाद के रूप में देखते हैं…क्योंकि वे परिवार की सदस्य हैं इसलिए उन्हें अनुमति है कि वे जेल में मुख्यमंत्री से मिल सकती हैं, वे दिल्ली की बात को अरविंद केजरीवाल तक और उनकी बात को हम तक पहुंचाती हैं।”

‘पार्टी को एकजुट रखने के लिए वो सबसे बेहतर’

Saurabh Bhardwaj ने आगे कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल मौजूदा परिस्थितियों में पार्टी को एकजुट रखने के लिए सबसे बेहतर हैं। उनकी मौजूदगी कार्यकर्ताओं का कार्यकर्ताओं पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। सौरभ भारद्वाज ने एक इंटरव्यू में कहा कि सुनीता केजरीवाल ने हमेश कहा है कि वह दिल्ली के मुख्यमंत्री की मैसेंजर हैं। मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि किसी पार्टी की राजनीति सिर्फ उसके घोषणापत्र के इर्द-गिर्द नहीं घूमती है, बल्कि समर्थन आधार पर कार्यकर्ताओं व शीर्ष नेतृत्व के बीच भावनात्मक संबंध भी किसी संगठन को एकजुट रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। 

ये भी पढ़ें:- MP Election: I.N.D.I. गठबंधन को बड़ा झटका, मीरा यादव का नामांकन निरस्त, ये है वजह ?  

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरो को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *