Advertisement

New Delhi: शीतकालीन सत्र से पहले सर्वदलीय बैठक, कार्यवाही के दौरान अनुकूल माहौल बनाने की अपील

Share
Advertisement

New Delhi: आगामी शीतकालीन सत्र से पहले केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने शनिवार को कहा कि सरकार ने सभी दलों से संसद के सत्र के दौरान अनुकूल माहौल बनाए रखने का अनुरोध किया है ताकि संसद की कार्यवाही ठीक ढ़ंग से चलाई जा सके। सर्वदलीय बैठक के बाद प्रेस से बातचीत करते हुए प्रल्हाद जोशी ने इस बात पर जोर दिया कि सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है। बता दें कि विधायी एजेंडे की रणनीति बनाने और आगामी संसदीय सत्र के दौरान संसदीय कार्यवाही के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में आज एक सर्वदलीय बैठक बुलाई गई। विपक्षी नेताओं ने आपराधिक कानूनों को बदलने की मांग करने वाले तीन विधेयकों के लिए अंग्रेजी नामकरण की मांग की, साथ ही मूल्य वृद्धि, जांच एजेंसियों के “दुरुपयोग” और मणिपुर के मुद्दों को भी उठाया।

Advertisement

New Delhi: कई विधेयक है विचाराधीन

मंत्री ने कहा, “हमने अनुरोध किया कि संरचित बहस के लिए माहौल बनाए रखा जाना चाहिए।” उन्होंने कहा, “नियमों और प्रक्रियाओं का पालन करते हुए चर्चा होनी चाहिए। सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा करने के लिए तैयार है।” संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि 19 विधेयक और दो वित्तीय मामला विचाराधीन हैं। संसद सत्र से पहले, कांग्रेस के लोकसभा नेता अधीर रंजन चौधरी ने शनिवार को महुआ मोइत्रा के खिलाफ आचार समिति की कार्यवाही पर अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखा।

आचार समिति को लेकर पत्र

सांसद अधीर रंजन चौधरी ने संसदीय समितियों के नियमों और प्रक्रियाओं पर फिर से विचार करने की मांग की। अपने चार पन्नों के पत्र में, चौधरी ने कहा कि विशेषाधिकार समिति और आचार समिति के लिए दंडात्मक शक्तियों के प्रयोग के संबंध कोई स्पष्ट सीमांकन नहीं। अधीर रंजन चौधरी ने अपने पत्र में कहा, “मैं आपके सामने अपने विचार रखने के प्राथमिक इरादे से लिख रहा हूं, जो कि मेरी व्यक्तिगत क्षमता में किए गए नियमों और प्रक्रियाओं पर पुनर्विचार करने और उचित समीक्षा करने और पुनर्गठित करने की आवश्यकता पर किए जा रहे हैं।”

ये भी पढ़ें- Yogi Visit Ayodhya: प्राण प्रतिष्ठा से पहले एयरपोर्ट का निरीक्षण, रामलला के भी किए दर्शन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें