Advertisement

Constitution Day: SC परिसर में अंबेडकर की प्रतिमा का राष्ट्रपति ने किया अनावरण

Share
Advertisement

Constitution Day: भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने रविवार, 26 नवंबर को भारत के सर्वोच्च न्यायालय में डॉ. बीआर अंबेडकर की एक प्रतिमा का अनावरण किया। प्रतिमा का अनावरण संविधान दिवस के अवसर पर भारत के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़, केंद्रीय कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में किया गया। बता दें कि डॉ. अम्बेडकर की मूर्ति स्थापित करने का निर्णय अम्बेडकरवादी आंदोलन से जुड़े वकीलों के एक समूह के अनुरोध पर लिया गया। पिछले साल दिसंबर में, उन्होंने भारत के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ को एक पत्र लिखकर सुप्रीम कोर्ट के लॉन में डॉ. अंबेडकर की एक मूर्ति लगाने की मांग की थी।

Advertisement

Constitution Day: पहले खारिज हुआ था अनुरोध

प्रतिमा स्थापित करने को लेकर इस साल सितंबर में, सुप्रीम कोर्ट आर्गुइंग काउंसिल एसोसिएशन (एससीएसीए) ने भी आवेदन किया था। इस बीच, मद्रास उच्च न्यायालय ने 11 अप्रैल को तमिलनाडु में अदालतों और अदालत परिसरों में महात्मा गांधी और संत तिरुवल्लुवर के अलावा किसी भी नेता की तस्वीरें, मूर्तियां या चित्र नहीं रखने के अपने पहले के फैसले को दोहराया था। इसलिए, न्यायालय ने राज्य में अदालतों के अंदर डॉ. अंबेडकर की तस्वीर लगाने के विभिन्न अधिवक्ता संघों के अनुरोध को खारिज कर दिया था।

7 जुलाई को जारी किया गया था परिपत्र

इस साल 7 जुलाई को रजिस्ट्रार जनरल द्वारा एक परिपत्र भी जारी किया गया था, जिसमें कहा गया था कि मद्रास उच्च न्यायालय के पूर्ण न्यायालय ने अक्टूबर 2008 से पारित पहले के प्रस्तावों के मद्देनजर निर्णय लिया था, जब उसने पहली बार वकीलों के एक समूह द्वारा डॉ. भीमराव अम्बेडकर का चित्र प्रदर्शित करने की याचिका को खारिज कर दिया था। हालांकि, 25 जुलाई को, राज्य सरकार ने सूचित किया कि जहां तक डॉ. बीआर अंबेडकर की मौजूदा मूर्तियों और चित्रों का सवाल है, स्थापित की जाएगी।

ये भी पढ़ें- UP News: यूट्यूब पर मौलाना के वीडियो देखता था हाशमी, पुलिस कर सकती है कोर्ट से कस्टडी रिमांड की मांग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *