Advertisement

Chhattisgarh: वर्मी कंपोस्ट के गड्डे में ग्रामीण परिवार रहने को मजबूर, क्या है वजह?

Chhattisgarh

Chhattisgarh

Share
Advertisement

Chhattisgarh: प्रदेश में एक तरफ पीएम आवास योजना को भाजपा मुद्दा बनाकर लगातार आंदोलन कर रही है। वहीं ग्रामीण इलाकों में आवास नहीं होने से ग्रामीण ईस कदर परेशान हैं। कि ग्रामीण वर्मी कंपोस्ट के गड्ढे को घर बनाकर रहने को मजबूर हैं। ग्रामीण का कहना है कि उसने पीएम आवास के लिए कई बार माँग की लेकिन उसका पीएम आवास स्वीकृत नहीं हो पाया है।

Advertisement

दरअसल बगीचा विकासखण्ड के ग्राम पंचायत क़ुर्रोग निवासी मानिक दास का कच्चा मकान डेढ़ साल पहले आंधी तूफान और बारिश में क्षतिग्रस्त हो गया था।  उसके बाद उसने आवास योजना के तहत आवास की मांग की लेकिन आज तक उसको आवास नहीं मिल पाया है।

मजबूर होकर ग्रामीण ने वर्मी कंपोस्ट के गड्ढे को ऊपर से सीमेंट का शेड लगाकर ढक दिया और उसी में वो पिछले डेढ़ सालों से रह रहे हैं। मानिक दास की एक बेटी भी है लेकिन मजबूरन दोनों पिता – पुत्री इसी वर्मी कंपोस्ट के गड्ढे में रहने को मजबूर हैं। इस छोटे से मकान की ऊंचाई महज 4 फीट होगी और इस कमरे में एक ही चौकी बिछी हुई है। इस घर मे एक छोटी खिड़की है और उसी से ये पिता पुत्री आना जाना करते हैँ। इस घर मे खिड़की नहीं होने से जंगली जानवरों का खतरा बना रहता है। आसपास के ग्रामीणो एवं जनप्रतिनिधियों का कहना है कि इसे जल्द से जल्द पीएम आवास उपलब्ध कराया जाए। वहीं अधिकारियों ने भी ग्रामीण की समस्या का जल्द निराकरण करने की बात कही है।

ये भी पढ़े:Chhattisgarh: 24 घंटे में बढ़े कोरोना के मरीज, रायपुर में सबसे ज्यादा एक्टिव केस


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *