Advertisement

Bihar: गर्मी के प्रकोप से दर्जनों स्कूली बच्चे बेहोश

Extreme heat

Extreme heat

Share
Advertisement

Extreme Heat: उत्तर भारत के कई राज्यों में गर्मी का सितम जारी है. बिहार में भीषण गर्मी से जन जीवन बेहाल है. बुधवार को बिहार के शेखपुरा में 50 से ज्यादा विद्यार्थी गर्मी के चलते बेहोश हुए. कोई स्कूल में प्रार्थना करते समय ग्राउंड में बेहोश हुआ तो कोई स्कूल आते समय रास्ते में. आनन फानन में इनको अस्पताल में भर्ती कराया गया. वहीं विद्यार्थियों के बिगड़ते स्वास्थ्य को देखते हुए स्कूल में भी शिक्षकों में अफरा-तफरी रही.

Advertisement

गर्मी के प्रकोप के कारण शेखपुरा में कई विद्यार्थियों की तबीयत बिगड़ गई. तेज धूप में कई छात्राओं के बेहोश होने की ख़बर है. यह अनुमानित संख्या 50 से ज्यादा बताई जा रही है. इसके चलते उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा. अभिभावकों की मांग है कि इस भीषण गर्मी में स्कूल की छुट्टी कर दी जाए.

तबीयत ख़राब होने पर जब स्वास्थ्य विभाग से संपर्क किया गया तो एंबुलेंस काफी देर तक नहीं आई. इस कारण विद्यार्थियों को निजी वाहनों से अस्पताल तक पहुंचना पड़ा. विभाग की इस लापरवाही को देखते हुए लोगों का गुस्सा चरम पर आ गया और सड़क जाम कर दी गई.

एक स्कूल के हेड मास्टर सुरेश प्रसाद ने बताया कि प्रार्थना के बाद जब बच्चे क्लास में पढ़ रहे थे, तभी बच्चे गर्मी के चलते बेहोश होने लगे. स्टाफ ने उन्हें संभाला. पानी के छींटे दिए. पंखा किया और अस्पताल प्रशासन को बताया गया. इसके बावजूद भी जब एंबुलेंस नहीं आई तो आनन-फानन में निजी वाहनों से बीमार बच्चों को स्कूल पहुंचाया गया.

सदर अस्पताल के डॉक्टर सत्येंद्र कुमार ने बताया कि अभी जिले में भीषण गर्मी पड़ रही है, जिसकी वजह से सभी बच्चों को डिहाइड्रेशन की समस्या हो गई थी. बच्चों का इलाज किया जा रहा है.

शेखपुरा के अलावा औरंगाबाद का तापमान 47.7 डिग्री, डेहरी 47 डिग्री, अरवल 46.9 डिग्री, गया 46.8 डिग्री और बक्सर का तामपान 46.4 डिग्री पहुंच गया. पटना का तापमान 42.8 डिग्री रहा.

सरकारी स्कूलों में छात्रों के बेहोश होने पर बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव ने पटना में कहा, बिहार में लोकतंत्र नहीं रह गया है, न सरकार रह गई है केवल अफसरशाही रह गई है. स्कूल के समय को लेकर मुख्यमंत्री की बात भी नहीं सुनी जाती है। मुख्यमंत्री इतने कमजोर क्यों हो गए हैं? 47 डिग्री तापमान है लू चल रही है, छोटे बच्चों का ध्यान देना चाहिए। डॉक्टर भी सलाह देते हैं कि लू में मत निकलो। बिहार के स्कूलों की आधारभूत संरचना भी उस तरह का नहीं है कि स्कूलों में बच्चें सुरक्षित रहेंगे। ये दिखा रहा है कि मुख्यमंत्री को इन लोगों ने घेर रखा है।

यह भी पढ़ें: West Bengal: TMC सरकार तुष्टीकरण के लिए देश के संविधान पर भी हमला करने लगी है- PM मोदी

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरों को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *