Advertisement

बिहार में बाढ़ की स्थिति गंभीर, प्रभावित लोगों के लिए कैंप और कम्युनिटी किचन की व्यवस्था

Share
Advertisement

नई दिल्ली: बिहार (Bihar) में बाढ़ से प्रभावित (Flood) इलाकों में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। जबकि पटना (Patna), कटिहार (Katihar), खगड़िया (Khagaria) और समस्तीपुर (Samastipur) के साथ तमाम 26 जिलों के 40 लाख से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। वहीं, गंगा (Ganges), सोन(son), पुनपुन (Punpun) और कोसी (Kosi) सहित कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। इसके अलावा बाढ़ प्रभावित इलाकों में सडक और रेल यातायात बाधित हो गया है।

Advertisement

जानकारी के अनुसार, भागलपुर-मुंगेर रेलखंड (Bhagalpur-Munger railway line) और किऊल-भागलपुर रेलखंड (Kiul-Bhagalpur railway line) पर रेल पटरियों पर जलजमाव के कारण लगातार दूसरे दिन रेल सेवाएं ठप रही है। हालांकि लम्‍बी दूरी की रेलगाडियों (trains) को अन्‍य मार्गों से चलाया जा रहा है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री (Chief Minister) नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने बताया है कि बाढ़ प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता दी जा रही है।

प्रभावित लोगों के लिए शिविर और सामुदायिक रसोई की व्यवस्था

मालूम हो कि बाढ़ (Flood) से 80 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में खड़ी फसल को नुकसान पहुंचा है। जबकि राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल (National Disaster Response Force) और राज्‍य आपदा मोचन बल (State Disaster Response Force) की 21 टीमें प्रभावित इलाकों में राहत तथा बचाव कार्य में लगी हैं। इसीलिए फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए दो हजार से अधिक देशी नौकाओं को लगाया गया है। वहीं, बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए 31 राहत शिविर (Camp) और 254 सामुदायिक रसोई (community kitchen) बनाई गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें