UP पुलिस को मुख्तार के बेटे अब्बास की तलाश, कई जिलों में ताबड़तोड़ छापेमारी

उत्तर प्रदेश की राजनीति में सियासी धमक रखने वाले माफिया डॉन मुख्तार अंसारी एक बार फिर से चर्चाओं में हैं। इसलिए नहीं कि उन्होंने कोई राजनीतिक समीकरण बदला है बल्कि उनका बेटा अब्बास अंसारी बार-बार पुलिस को चकमा देकर फरार हो जाता है। दरअसल वर्ष 2012 में लखनऊ से जारी शस्त्र का लाइसेंस बगैर सूचना दिए नई दिल्ली के पते पर स्थानांतरित कराने के मामले में गैरहाजिर चल रहे अभियुक्त अब्बास अंसारी के खिलाफ एमपी-एमएलए की विशेष मजिस्ट्रेट कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है।

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में ट्रेनी एयरक्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त होकर खेत में गिरा, महिला पालयट घायल

क्या है पूरा मामला

आपको बता दें कि इसी सिलसिले में योगी पुलिस शख्त एक्शन में दिखी इसी के अंतर्गत आज यानी सोमवार को अब्बास अंसारी के ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी हुई है। बता दें खबरों के अनुसार 12 अक्टूबर, 2019 को इस मामले की एफआईआर प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार सिंह ने थाना महानगर में दर्ज कराई थी। खबर तो ये भी है, अब्बास अंसारी पर एक नहीं बल्कि कई गंभीर धाराओं में कई मुकादमे दर्ज हैं। बता दें कि बीते विधानसभा के चुनाव में अब्बास अंसारी मऊ से विधायक भी निर्वाचित हुए हैं।

दरअसल यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के दौरान अब्बास अंसारी ने बड़े ही तीखे लहजे में विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि चुनाव के नतीजे आने के बाद अधिकारियों को 6 महीने तक हटाया नहीं जाएगा, यानी कोई ट्रांसफर नहीं होगा। सपा सरकार बनने के बाद पहले अधिकारियों से हिसाब लिया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि इस मामले में  मेरी अखिलेश यादव से बात भी हो चुकी है। इसी पर सियासत इतनी गरमा गई की चारो ओर इस बयान की चर्चा भी होने लगी। इसी कारण भी आज पुलिस अंसारी की तलाश में है।

यह भी पढ़ें: प्रयागराज के चिल्ड्रेन हॉस्पिटल में लगी आग, बच्चों को गोद में लेकर भागे परिजन

रिपोर्ट: निशांत

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *