वर्दी की दहशतगर्दी: शिकायत करने वाली पीड़िता और उसके भाई को पुलिस ने थाने में बेरहमी से पीटा, नंगा करके मारने की दी धमकी

कानपुर: गोरखपुर में पुलिस की दहशतगर्दी का शिकार हुए कानपुर के व्यापारी के बाद पुलिस पर सवाल उठने का सिलसिला जारी है। कानपुर देहात में भी एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें आरोप वर्दी वालों पर है। कानपुर देहात के सिकंदरा थाने की पुलिस आरोपों के घेरे में है और पीड़ित बर्बरता का शिकार है।  महिला और उसका भाई का आरोप है की पुलिस ने पीड़िता के ससुराल वालों से पैसे लेकर उन पर दबाव बनाया और पुलिस ससुराली जनों के दबाव में आकर पीड़िता पर समझौते का दबाव बना रही थी।

जिस का विरोध करना पीड़िता और उसके भाई को भारी पड़ गया पीड़िता के अनुसार तो पुलिस ने बिना कुछ सोचे समझे बिना किसी जांच-पड़ताल के उन दोनों पर अपना कहर बरपा दिया। पीड़िता और उसका भाई थाने में पुलिस की बर्बरता से चीखते रहे चिल्लाते रहे लेकिन ना कोई सुनने वाला कोई नहीं था और ना रोकने वाला किसी तरीके से अपने आप को थाने से बाहर निकाल कर दोनों ने बदहवास हालत में चीख चीख कर पुलिस की बर्बरता को बयां किया। जिसके बाद मामला इतना बढ़ा कि मौके पर क्षेत्राधिकारी को आना पड़ गया। पीड़ित महिला लगातार पुलिस पर आरोप लगा रही थी और पुलिस वाले अपने आप को सही साबित करने में जुटे हुए थे। बता दें ये मामला आला अधिकारियों के संज्ञान में आ गया है।

पुलिस का पक्ष

इस पूरे मामले में पुलिस के आला अधिकारियों की माने तो यह मामला पारिवारिक विवाद था और दोनों ही पक्षों को समझौते के लिए बुलाया गया था।  जिसके बाद आरोप लगाने वाली पीड़ित महिला ने पुलिस पर दबाव बनाया और उससे उसके फेवर में फैसला करने की बात कही जिसके बाद पुलिस वालों के इंकार करने पर पीड़ित महिला ने पुलिसकर्मियों और अपने ससुराली जनों पर तमाम आरोप लगाए हैं जो कि पुलिस की प्रथम दृष्टया असत्य पाए गए हैं। पुलिस का यह भी कहना है कि इस पूरे मामले की जांच कराई जा रही है अगर कोई साक्ष्य सामने आता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *