सपा के धरने में शामिल पूर्व मंत्री, धक्का देकर हटाए गए

Courtesy: twitter

गुरुवार: 12 अगस्त को लखनऊ के हजरतगंज के पास बालू अड्डा इलाके में गंदे पेय-जल की समस्या को लेकर समाजवादी पार्टी ने लखनऊ नगर-निगम पर नगर अध्यक्ष सुशील दीक्षित की अगुवाई में धरना प्रदर्शन किया। इस इलाके में गंदा पानी पीने और डायरिया होने की वजह से एक बच्चे की मौत हो गई थी, जिस पर सपा कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की और नगर आयुक्त को हटाने की मांग की।

प्रदर्शन में शामिल होने के लिए सपा सरकार में परिवार कल्याण कैबिनेट मंत्री रहे, रविदास मेहरोत्रा भी पहुंच गये। उसी दौरान एक अजीब-सा वाकया हुआ। जब उन्होंने वहां बैठने की कोशिश की, तब वहां पर पहले से बैठे नारे लगा रहे, सुशील दीक्षित और अन्य नेताओं ने उन्हें धक्के दे-देकर हटा दिया। बाद में किसी ने इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

वीडियो वायरल होने के बाद सुशील दीक्षित ने दी सफाई

“लखनऊ नगर निगम पर महानगर समाजवादी पार्टी का धरना था। कार्यक्रम में काफी भीड़ हो गई थी। जहां पर हम लोग बैठे थे, चाहते थे कि सड़क से आते-जाते लोग देखें, कि समाजवादी पार्टी के लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। जब तीन-चार कार्यकर्ता वहां सामने आकर बैठे तो हमने उनसे खिसकने के लिए कहा और वो खिसक गए। उसके बाद माननीय रविदास मेहरोत्रा जी, जो यूपी में कैबिनेट मंत्री रहे हैं, आए तो मैं उन्हें पहचान नहीं पाया। गर्मी का माहौल था। हमें चक्कर-सा आ रहा था। हम समझ नहीं पाए कि ये मंत्री जी हैं। हमने समझा कि कोई कार्यकर्ता है। इसलिए हमने पीछे से मंत्री जी से खिसकने के लिए कहा”


उन्होंने आगे कहा, ”लेकिन पूरे लखनऊ में भारतीय जनता पार्टी के लोगों ने दुष्प्रचार करने के लिए, मोबाइल पर वीडियो रिकार्ड करके वायरल करने का जो काम किया है, बहुत गलत है। माननीय रविदास मेहरोत्रा जी पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे हैं। 32 साल पहले लखनऊ में विधायक बने थे। हम उनका आदर करते हैं। कई आंदोलनों में हमने साथ में काम भी किया है। रविदास मेहरोत्रा जी का सम्मान पूरी पार्टी करती है। मैं बार-बार कहता हूँ कि वो लखनऊ के हमारे सबसे बड़े नेता हैं। बीजेपी के दुष्प्रचार पर ध्यान न दिया जाए। हम लोगों के बीच में बहुत मधुर संबंध हैं।”

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.