यूपी: 17 महीने बाद अपनों से मिलने के लिए खुले जेल के दरवाजे, जानें- क्या हैं नियम?

नई दिल्ली: यूपी में 17 महीनों से बंद जेल (Jail) के दरवाजे कैदियों से मिलाई के लिए एक बार फिर खोल दिए गए है। कोरोना (COVID-19) जैसा माहामारी के चलते जेल में कैदियों से मिलाई पर रोक लगा दी गई थी। मगर एक बार फिर प्रदेश सरकार का आदेश मिलते ही 17 महीनों बाद जेल में बंद कैदियों की अपनों से मिलाई शुरू हो गई है।

दरअसल, कोरोना महामारी के कहर को देखने हुए राज्य सरकार (State government) ने जेलों (Jail) में भी परिजनों से मिलाई पर रोक लगा दी थी। बता दें कि योगी सरकार ने जेल के दरवाजे एक बार फिर परिजनों के लिए खोल दिए हैं। 16 अगस्त से परिजन जेल में बंद अपनों से फिर मुलाकात करने लगे हैं। जिससे उनकी खुशी दोगुनी हो गई है।

72 घंटे की आरटीपीसीआर रिपोर्ट देख ही एंट्री

जानकारी के अनुसार जेल प्रशासन (prison administration) ने कैदियों (prisoners) से मुलाकात के लिए पुख्ता इंतजाम किए हैं। बता दें कि कैदियों (prisoners) से मुलाकात के लिए आने वाले परिजनों को 72 घंटे की आरटीपीसीआर रिपोर्ट (RTPCR report) देखकर ही एंट्री दी जा रही है। इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का भी पूरा ख्याल रखा जा रहा है।

साथ ही सैनिटाइजेशन (sanitization) का भी पूरा इंतजाम रखा जा रहा है। लोगों के बिना मास्क के एंट्री पर रोक है। वहीं, जेल प्रशासन कैदियों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रख रहा है। फिलहाल योगी सरकार ने कोरोना (COVID-19) की तीसरी लहर (third wave) के साए के बीच जेल (Jail) के दरवाजे परिजनों की मिलाई के लिए खोल दिये हैं।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.