सिद्धार्थनगर में CM योगी, संचारी रोग निंयत्रण अभियान की शुरुआत की

CM योगी

सिद्धार्थनगर: शनिवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सिद्धार्थनगर जिले में बतौर मुख्यमंत्री अपनी दूसरी पारी शुरू करने के बाद पहली बार आए। CM ने जनपद मुख्यालय स्थित बीएसए ग्राउंड पर आज से 28 अप्रैल तक चलाए जा रहे विशेष संचारी रोग और दस्तक अभियान की शुरुआत अपने कर कमलों द्वारा की। इस दौरान CM ने विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान के शुभारंभ के साथ इस अभियान में सहयोग कर रहे विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया।

प्रदर्शनी में पहुंचे सीएम योगी ने बाल पुष्टाहार विकास विभाग के पंडाल में मौजूद महिलाओं के छोटे बच्चों को गोद में उठा लिया और उससे दुलार प्यार किया। योगी आदित्यनाथ प्रदर्शनी का अवलोकन करने के बाद स्टेज पर आए और वहां से उन्होंने भारी संख्या में उपस्थित जनसमूह को संबोधित किया। CM ने इस मौके पर उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र भी सौंपा साथ ही विशेष संचारी रोग और दस्तक अभियान के इस पखवाड़े में पूरे जिले में भ्रमण करने वाली उन गाड़ियों को भी हरी झंडी दिखाई।

पिछले 5 वर्ष में इसको लेकर जो प्रयास हुए हैं वो काफी नहीं: CM योगी

इस मौके पर सीएम ने संबोधित करते हुए कहा कि आज मुझे जब विशेष संचारी अभियान की शुरुआत के लिए जनपद चुनना पड़ा तो मैंने सिद्धार्थनगर जनपद को चुना। इसका कारण यह आकांक्षा जनपद है और यहां पर स्वस्थ, शिक्षा सहित सभी सुविधाओं को देखते हुए यहां कार्य करने की आवश्यकता है। पिछले 5 वर्ष में इसको लेकर जो प्रयास हुए हैं वो काफी नहीं है बल्कि इसको और आगे ले जाने की आवश्यकता है। विशेष संचारी रोग यानी मस्तिष्क ज्वर इंसेफेलाइटिस की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार ने केंद्र के साथ मिलकर कमर कसी थी। आजादी के बाद से 2017 तक पूर्वांचल के क्षेत्र में हर वर्ष हजारों की संख्या में लोग मरते थे।

CM योगी ने कहा पिछली सरकारें कुछ नहीं करती थी। लेकिन दृढ़ संकल्प के साथ मोदी जी के नेतृत्व में विभागों के सहयोग से प्रदेश सरकार ने पिछले 5 सालों में इस बीमारी को जड़ से समाप्त करने में सफलता पाई है। हमारे पूर्वजों का कहना है कि बीमारी के उपचार से अधिक कारगर बचाव होता है उसी को ध्यान में रखकर दस्तक कार्यक्रम शुरू किया गया है जिसके तहत स्वास्थ्य विभाग से जुड़े स्वास्थ्य कर्मी घर-घर जाकर इस बीमारी के बारे में लोगों को जागरूक करते हैं। पीएम और प्रदेश की सरकार ने इंसेफेलाइटिस के साथ-साथ फाइलेरिया और टीवी को भी जड़ से समाप्त करने का संकल्प लिया है और इस और तेजी से काम भी हो रहा है।

Read Also:- भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच आर्थिक सहयोग और व्यापार समझौते पर हुए हस्ताक्षर, जानें PM क्या बोले?

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.