भाजपा नेता की गुंडई, यातायात सिपाही से कहा-तुम्हारी हैसियत क्या है, कर चालान… देखें वीडियो

Unnao: विधायक जी के रिश्तेदार संदीप पांडे सड़क पर हंगामा करने लगे। यातायात सिपाही से कहा कि तुम्हारी हैसियत क्या है, कर चालान, चल कोतवाली बंद कराता हूं, नहीं तो DM से बात करता हूं।

Share This News
भाजपा नेता की गुंडई

उत्तर प्रदेश के उन्नाव के एक सिपाही के रोने का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। भाजपा नेता की गुंडई वीडियो सामने आया है। जिसने यातायात के सिपाही के साथ सड़क पर बदतमीजी करनी शुरू कर दी। दरअसल खबर ये है कि यातायात सिपाही ने बीजेपी के एक नेता को कार से हूटर निकालने के लिए कहा, जिस पर नेता जी भड़क गए और सड़क पर जमकर ड्रामा करने लगे।

कुछ देर के लिए यातायात भी बाधित हुई। नेता के हंगामा के कारण सड़क पर भीड़ जुट गई। इसके बाद हंगामा करने वाले नेता के रिश्तेदार ने सिपाही को पकड़ा और उसे खींचते हुए थाने तक ले गए। कोतवाली पर पुलिस और भाजपा नेता के बीच जमकर बहस हुई। कोतवाल के सामने भी सिपाही के साथ बदसलूकी की गई। बिना किसी गलती के सिपाही अपने साथ हो रहे दुर्व्यवहार को सहन नहीं कर पाया और फूट-फूटकर रोने लगा। सोशल मीडिया पर जैसे ही यह वीडियो आया। इस पर चर्चा शुरू हो गई।

भाजपा नेता की गुंडई

मामला उन्नाव सदर कोतवाली के गांधी नगर तिराहे पर तैनात यातायात सिपाही माधव अपनी ड्यू़टी निभा रहा था। वहीं भगवंत नगर विधानसभा सीट से भाजपा विधायक आशुतोष शुक्ला के रिश्तेदार व समर्थक हूटर बजाते हुए निकले। कार में भाजपा का झंडा लगा हुआ था। हूटर की आवाज सुनकर ट्रैफिक सिपाही ने फोटो खींच ली। फिर क्या विधायक जी के रिश्तेदार संदीप पांडे सड़क पर हंगामा करने लगे। कहा कि तुम्हारी हैसियत क्या है, कर चालान, चल कोतवाली बंद कराता हूं, नहीं तो DM से बात करता हूं।

फिलहाल भाजपा नेता संदीप पांडेय को बीच सड़क पर बवाल करना भारी पड़ गया। इस मामले में उन्नाव के SP दिनेश त्रिपाठी ने CO सिटी को जांच के आदेश पर रजन्ना मिश्रा, संदीप पांडेय, पंकज दीक्षित और 3 अज्ञात पर सिपाही की तहरीर के आधार पर मुकदमा दरेज कर लिया गया है।

वीडियो वायरल होने के बाद सपा ने ट्वीट करते हुए भाजपा सरकार पर हमला बोला है। ट्वीट किया

यह भी पढ़ें: Unnao: आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर रफ्तार का कहर, चालक को झपकी आने से बस पलटी, 3 की मौत

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.