संभल में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही, जिला अस्पताल में भीषण आग के बाद भी सुरक्षा में नहीं सुधार

उत्तर प्रदेश में जहां मुख्यमंत्री योगी के साथ स्वास्थ्य मंत्री एवं डिप्टी सीएम बृजेश पाठक जहां प्रदेश में स्वास्थ्य चिकित्साओं का दौरा करके जायजा ले रहे हैं। तो वहीं राज्य संभल में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के साथ पूरे स्वास्थ्य परिसर का हाल बुरा हो रखा है। बता दें संभल में जिला अस्पताल से बड़ी लापरवाही की खबर सामने आ रही है। अस्पताल में आग बुझाने को लगे अग्निशमन यंत्र खराब हुए पड़ हैं। ये स्थिति तब है जब चार दिन पहले ही जिला अस्पताल आग से धधक गया था।

यह भी पढ़ें: मणिपुर में घटनास्थल के पास एक और लैंडस्लाइड, 18 जवानों समेत 24 लोगों की मौत

स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही

संभल के जिला अस्पताल से लापरवाही की बड़ी तस्वीरें सामने आ रही हैं। जहां अस्पताल में आग बुझाने के अग्निशमन यंत्र लटके हुए हैं। जो आग की स्थिति में हाथ खड़े कर सकते हैं। एक दो नहीं जिला अस्पताल में लटके तमाम अग्निशमन यंत्र बेकार हो चुके हैं। इसी के साथ उन सभी अग्निशमन यंत्र पर एक्सपायरी डेट देखी जा सकती है। आपको बता दें कि हर साल इन्हें रिफिल कराया जाता है। फायर का काम करने वाली एजेंसी इनको चैक कर इनके अंदर लगे मिनी सिलेंडर या पाउडर या कैमीकल को बदलते है। फिर उसे नई एक्सपायरी डेट का सर्टिफिकेट चस्पा करती है। जिसके बाद वो एक से तीन साल तक का हो सकता है।

बताते चलें कि चार दिन पहले ही अस्पताल की चौथी मंजिल पर आग लगी थी। लेकिन इसके बाद भी लापरवाही चौंकाने वाली है। पूरे मामले पर डीएम ने कहा है कि उन्होने पहले ही भ्रमण में पर्याप्त अग्निशमन यंत्र लगाने का निर्देश दिया था। यदि कोई अग्निशमन यंत्र बेकार है तो उसे रिन्यू कराया जाएगा। लेकिन उनके आदेश की सुनाई न के बराबर होती दिखाई पड़ रही है।

यह भी पढ़ें: DRDO के Pilotless विमान ने चीरा आसमान का सीना, रक्षा मंत्री हुए गदगद

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.