टीम-09 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिशा-निर्देश, बोले- 50 लाख प्रदेशवासियों ने वैक्सीन की ली दोनों डोज

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम-09 को निर्देश देते हुए कहा कि एग्रेसिव ट्रेसिंग, टेस्टिंग और त्वरित ट्रीटमेंट की नीति के साथ-साथ तेज टीकाकरण की नीति से उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित स्थिति में है। विगत 24 घंटे में 93 नए मरीजों की पुष्टि हुई है, जबकि 218 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं। इससे पहले 01 मार्च को एक दिन में 100 से कम मरीज पाए गए थे। वर्तमान में 2,032 एक्टिव कोरोना मामले हैं, जबकि 1,432 लोग होम आइसोलेशन में उपचाराधीन हैं। प्रदेश में कोरोना की रिकवरी दर और बेहतर होकर 98.6% हो गई है। अब तक 16 लाख 82 हजार 130 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं।

आगे सीएम ने कहा कि लगातार कोशिशों से उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर की स्थिति नियंत्रण में है। संक्रमण दर न्यूनतम स्थिति में है। बीते 24 घंटे 2,28,158 कोविड सैम्पल की जांच की गई और पॉजिटिविटी दर 0.04% रही। इतनी कम पॉजिटिविटी दर कोविड की पहली लहर के नियंत्रण में आने के बाद भी नहीं देखी गई थी। कोरोना संक्रमण की नियंत्रित स्थिति के बाद भी एग्रेसिव टेस्टिंग जारी रखी जाए। प्रदेश में अब तक 05 करोड़ 93 लाख 31 हजार 655 टेस्ट हो चुके हैं। यह देश में किसी एक राज्य द्वारा की गई सर्वाधिक कोविड टेस्टिंग है।

साथ ही वह बोले कि प्रदेश में टीकाकरण की प्रक्रिया सुचारू रूप से चल रही है। 50 लाख प्रदेशवासियों ने वैक्सीन की दोनों डोज प्राप्त कर ली है। विगत 24 घंटे में 08 लाख 68 हजार 202 लोगों ने वैक्सीन कवर प्राप्त किया। अब तक 03 करोड़ 35 लाख से अधिक वैक्सीन डोज लगाई जा चुकी है। टीकाकरण की सुगमता के लिए ऑनलाइन स्लॉट बुकिंग को प्रोत्साहित किया जाना उचित होगा। गांवों में कॉमन सर्विस सेंटरों के माध्यम से लोग टीकाकरण के लिए पंजीयन करा सकते हैं। इस निःशुल्क व्यवस्था के बारे में लोगों को जागरूक किया जाए। केवल उन्हीं को केंद्र तक बुलाया जाए, जिनका टीकाकरण होना है। टीकाकरण के लिए टाइम स्लॉट जारी कर, तद्नुरूप वैक्सीनेशन किया जाए।

टीम-09 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिशा-निर्देश

विभिन्न औद्योगिक समूहों की ओर से ऑक्सीजन प्लांट/ऑक्सीजन कंसंट्रेटर आदि उपलब्ध कराने में महनीय सहयोग किया गया है। अनेक औद्योगिक समूहों/इकाइयों ने ‘हेल्थ एटीएम’ उपलब्ध कराने की इच्छा जताई है। ऐसे सभी लोगों से संपर्क कर सहयोग प्राप्त किया जाए। हेल्थ एटीएम ग्रामीण, कस्बाई, शहरी और महानगरीय क्षेत्रों में लोगों के लिए बड़ा उपयोगी सिद्ध होगा। केंद्र व राज्य सरकार के समन्वित प्रयासों से अब तक 528 में से 138 ऑक्सीजन प्लांट क्रियाशील हो चुके हैं। 15 अगस्त तक सभी प्लांट की स्थापना की कार्यवाही सम्पन्न कर ली जाए।

-25 जुलाई से शिवभक्तों की परंपरागत “कांवड़ यात्रा” प्रारंभ हो रही है। श्रद्धालुओं की बड़ी संख्या उत्तराखंड और बिहार आदि राज्यों में जलाभिषेक के लिए जाती है। कोविड काल को दृष्टिगत रखते हुए संबंधित राज्यों से संवाद कर यात्रा के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए जाएं।

-कोविड-19 महामारी के कारण  जिन लोगों का असामयिक निधन हुआ है, उन भूमिधरों की वरासत, उनके विधिक उत्तराधिकारियों के पक्ष में खतौनी में दर्ज करने के लिए आज से “विशेष वरासत अभियान” शुरू किया गया है। 18 जुलाई तक के लिए प्रस्तावित इस महत्वपूर्ण अभियान का लाभ सभी जरूरतमंदों को दिलाया जाए। खतौनी की नकल राजस्व विभाग के स्थानीय अधिकारियों द्वारा उत्तराधिकारी के आवास पर जाकर ससम्मान हस्तगत किया जाए।

-जिला पंचायत चुनाव के सकुशल संपन्न होने के बाद अब ब्लॉक प्रमुख चुनाव आसन्न है। चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से हों, इसके लिए जिला प्रशासन/पुलिस बल को अतिरिक्त सतर्कता बरतनी होगी। अराजक तत्वों के विरुद्ध सख्ती के साथ यथोचित कार्रवाई की जाए। व्यवस्था के सुचारू संचालन के लिए डिप्टी एसपी स्तर के अधिकारी ब्लॉक स्तर पर तैनात किए जाएं। चुनाव कार्य में प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष ढंग से संलग्न किसी अधिकारी को 11 जुलाई तक कोई अवकाश स्वीकृत न किया जाए।

-बीते दिनों 17 नगर निगमों सहित नगर पालिका/नगर पंचायतों का सीमा विस्तार किया गया है। नगरीय क्षेत्र में शामिल हुए नए क्षेत्रों के नागरिकों से सतत संवाद करें। वहां साफ-सफाई, ड्रेनेज, दैनिक कूड़ा निस्तारण आदि की प्रक्रिया को व्यवस्थित किया जाए। सफाई-कर्मियों की तैनाती हो। नगर विकास विभाग द्वारा इस संबंध में तत्परता के साथ कार्यवाही की जाए।

– डूडा और सूडा के कार्यों की गुणवत्ता का परीक्षण हो। इन संस्थानों के अधिकारियों को जवाबदेह बनाया जाए। कार्यप्रणाली को और अधिक पारदर्शी बनाये जाने की जरूरत है। अमृत योजना और स्मार्ट सिटी मिशन के कार्यों को तेज किया जाए।

-किसान हो या उद्यमी अथवा आम-आदमी, बिजली की जरूरत सभी को है। तय रोस्टर के अनुरूप सभी जगहों पर बिजली की आपूर्ति की जाए। अनावश्यक कटौती न हो। खराब, जर्जर बिजली तारों-पोल के सुदृढ़ीकरण की कार्यवाही तेजी से की जाए।

-प्रदेश में 09 नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना का कार्य लगभग पूर्ण हो गया है। इन कॉलेजों में साढ़े 04 सौ से अधिक संकाय सदस्यों की नियुक्ति की प्रक्रिया जारी है। फैकल्टी चयन शुचिता और पारदर्शिता के साथ हो। मेरिट के आधार पर अच्छे शिक्षकों का चयन किया जाए। आदरणीय प्रधानमंत्री जी द्वारा अतिशीघ्र इन मेडिकल कॉलेजों को लोकार्पित किया जाएगा।

-प्रभारी मंत्री गण और विभागीय अधिकारी गण, बाल संरक्षण गृहों और महिला संरक्षण गृहों का निरीक्षण कर व्यवस्था को बेहतर बनाएं। निवासरत बच्चों/बेटियों/महिलाओं से संवाद करें, उनकी जरूरतों/अपेक्षाओं को जानें। राज्य सरकार द्वारा इन बच्चों/बेटियों के विकास के लिए सभी जरूरी प्रबंध किए जाएंगे। रिपोर्ट- विक्रम सिंह राठौर

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.