Udaipur Murder Case: कन्हैयालाल के दोनों बेटों की नौकरी का पहला दिन, मां ने दिया आशीर्वाद

Rajasthan: उदयपुर में 28 जून को कन्हैयालाल की दिनदहाड़े दो मुस्लिम युवकों ने निर्मम हत्या कर दी थी। इस हत्याकांड के बाद पूरे देश में आक्रोश फैल गया था। कन्हैयालाल हत्याकांड के बाद राजस्थान सरकार ने संवेदनशीलता दिखाते हुए दोनों बेटों को सरकारी नौकरी देने का फैसला किया था। राज्य सरकार ने दोनों के नियुक्ति पत्र तत्काल जारी किए थे। अब दोनों बेटों ने सरकारी नौकरी ज्वॉइन कर ली है। तरुण तेली को लगाया उदयपुर शहर कोष कार्यालय में कनिष्ठ सहायक पद पर जबकि यश को उदयपुर ग्रामीण कोष कार्यालय में कनिष्ठ सहायक लगाया गया है। इसी के साथ मां ने से दही और गुड़ खिलाकर दोनों बेटों को विदा किया। बता दें पिता की तस्वीर को नमन कर यश और तरुण घर से निकले थे।

यह भी पढ़ें: Agneepath Scheme Protest: अग्निपथ योजना से रेलवे को हुआ करोड़ों का नुकसान-अश्विनी वैष्णव

राजस्थान सरकार ने नौकरी देने की घोषणा किया था

गौरतलब है कि 28 जून को कन्हैयालाल की दिनदहाड़े दो मुस्लिम युवकों ने निर्मम हत्या कर दी थी। पूरे देश में इस हत्याकांड को लेकर काफी आक्रोश भी देखा गया था। बता दें इस वारदात के बाद मुख्यमंत्री गहलोत सरकार उदयपुर में कन्हैयालाल के घर गए थे। यहां पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने परिजनों की मदद के लिए पचास लाख रुपये की आर्थिक मदद दी थी। इसके साथ ही उन्होंने कन्हैयालाल के दोनों बेटों को सरकारी नौकरी देने का भी ऐलान किया था। हालांकि बाद में 6 जुलाई को गहलोत कैबिनेट ने नियमों में संशोधन कर मृतक कन्हैयालाल के दोनों बेटों को नौकरी देने के फैसले पर मुहर लगाई थी।

यह भी पढ़ें: डोकलाम के नजदीक चीन ने बसाए गांव, पंगडा गांव के निर्माण की सैटेलाइट तस्वीरें आई सामने

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *