2-3 दिनों में हो जाएगी कैप्टन के साथ सीट शेयरिंग की घोषणा, बीजेपी ने बताया यह फॉर्मूला

पंजाब विधानसभा चुनाव बीजेपी

भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने आगामी पंजाब विधानसभा चुनावों के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह की पार्टी और अकाली दल के पूर्व नेता सुखदेव सिंह ढींडसा के नए संगठन के साथ औपचारिक रूप से गठबंधन की घोषणा कर दी है। गठबंधन की घोषणा के बाद अब सीट शेयरिंग को अंतिम रूप दिया जा रहा है। केंद्रीय राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने बुधवार को कहा कि सीटों के बंटवारे पर फैसला जीत के मापदंड पर एक या दो दिन किया जाएगा।

न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए सोम प्रकाश ने कहा, “सीट बंटवारे पर फैसला संभवत: अगले दो से तीन दिनों में लिया जाएगा। हमारी पार्टी का रुख बहुत स्पष्ट है। हम सभी सीटों पर लड़ेंगे। यह भी स्पष्ट है कि हम कैप्टन अमरिंदर सिंह और सुखदेव सिंह ढींडसा के नए संगठन शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) के साथ मिलकर लड़ेंगे। 6 सदस्यीय समिति का गठन किया गया है जो सीटों के बंटवारे पर फैसला करेगी। सीटों के बंटवारे का एकमात्र मानदंड जीत है।”

माझा और दोआबा की ज्यादातर सीटों पर बीजेपी के और मालवा इलाके की ज्यादातर सीटों पर कैप्टन अमरिंदर सिंह की पार्टी के चुनाव लड़ने की खबरों पर पूछे जाने पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस बारे में आने वाले दिनों में फैसला किया जाएगा। अगर ऐसा नहीं होता है तो पार्टी का वरिष्ठ नेतृत्व  फैसला करेगा। उन्होंने कहा, ”जो उम्मीदवार जीत सकते हैं, उसी के हिसाब से फैसला लिया जाएगा। इस पर अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी।”

बता दें कि पंजाब की 117 विधानसभा सीटों में से 69 सीटें मालवा में हैं और माझा में विधानसभा की 25 सीटें हैं। दोआबा क्षेत्र में विधानसभा की 23 सीटें हैं। वहीं पार्टी के विभिन्न नेताओं के भाजपा में शामिल होने के बारे में उन्होंने कहा, “हम पंजाब में अपनी सरकार बनाएंगे। हम विकास के मुद्दे पर लड़ेंगे।”

सींट बंटवारे और गठबंधन पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुग ने कहा कि तीनों दल आपसी सहमति से और जीत के हिसाब से सूची तैयार करेंगे और जारी करेंगे। उन्होंने कहा कि तीनों दल मिलकर माझा, मालवा और दोआबा में अपनी मौजूदगी दिखाएंगे। उन्होंने उम्मीद जताई कि इसके अच्छे परिणाम सामने आएंगे। उन्होंने कहा कि नेता नियमित रूप से भाजपा में शामिल हो रहे हैं जो एक अच्छा संकेत है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.