पंजाब: किसानों के लिए नई कृषि नीति बनाने में जुटी सरकार, 2023 तक नीति बनकर हो जाएगी तैयार

पंजाब सरकार लगातार राज्य के विकास के लिए कुछ ना कुछ प्रयास कर रही है। खासकर के किसानों के लिए नई कृषि नीति तैयार करनी शुरू कर दी है। नई कृषि नीति 31 मार्च, 2023 तक बनकर तैयार हो जाएगी। नई नीति पंजाब की भौगोलिक स्थिति, मिट्टी की सेहत, फसलों और पानी की उपलब्धता को मुख्य रख कर तैयार की जाएगी, जिसके लिए प्रसिद्ध कृषि वैज्ञानिकों और किसान जत्थेबंदियों के साथ सलाह मशवरे किये जा रहे हैं। राज्य सरकार कृषि क्षेत्र को मजबूत करने की हर संभव कोशिश में जुटी हुई है।

इस नीति को लेकर पंजाब के कृषि मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल ने बताया कि पिछली सरकारों के गैर जिम्मेदाराना रवैये के कारण किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। पिछली सरकारों की गलत नीतियों के कारण पंजाब का शुद्ध पानी, शुद्ध हवा और वातावरण और उपजाऊ भूमि सब दूषित हो गया लेकिन अब सीएम मान की सरकार में दूषित पानी, जहरीली हवा और गैर- उपजाऊ भूमि इन सभी दिक्कतों को सुलझाया जा रहा है और किसानों को बेहतर सुविधा देकर राहत दे रही है।

साथ ही प्राकृतिक कृषि के लिए अलग नीति बनाने का ऐलान करते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि कृषि में खादों, रसायनों, और कीटनाशकों के अधिक प्रयोग के कारण लोगों को स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है उन्होंने कहा कि पंजाब को पहले वाली स्थिति में लाने के लिए प्राकृतिक कृषि के अनुसार काम करने की जरूरत है। कृषि मंत्री ने कहा कि कृषि सिर्फ़ कृषि नहीं, यह जीवन के साथ जुड़ा हुआ मुद्दा है, उन्होंने कोआपरेटिव प्रणाली को आबाद करने की जरूरत पर ज़ोर देते हुए कहा कि कृषि को जरूरत मुताबिक करने की जरूरत है।

कृषि मंत्री ने कृषि में आई असुरक्षा को दूर करने की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुए कहा कि राज्य सरकार कृषि को बचाने की दिशा में सबके सहयोग के साथ आगे बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि कृषि करने के लिए बड़ी मशीनें खरीदने की जगह छोटी मशीनों का प्रयोग करना चाहिए, जिससे किसानों की आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा। पंजाब की फसलों, पानी और मिट्टी और वातावरण को केंद्र में रख कर अलग-अलग सम्मेलन करने का किया ऐलान करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कृषि वैज्ञानिकों और तजुर्बेकार लोगों की मदद से कृषि क्षेत्र को मजबूत करने का हर संभव यत्न करेगी.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *