केरल में NIA की रेड के विरोध में PFI ने आज जमकर किया विरोध, पब्लिक प्रॉपर्टी को पहुंचाया नुकसान

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के खिलाफ हुई कार्रवाई के विरोध में शुक्रवार को केरल बंद का ऐलान किया गया है। इस दौरान राज्य से जमकर हिंसा की खबरें सामने आई हैं। खबर है कि कोलम में दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इसके अलावा तिरुवनंतपुरम समेत कई शहरों में हिंसा और तोड़फोड़ की गई है। सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक हड़ताल के ऐलान के बाद केरल पुलिस ने भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी थी।

PFI ने NIA का विरोध करते हुए पब्लिक प्रॉपर्टी को पहुंचाया नुकसान

केरल में NIA रेड का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने जमकर हंगामा किया है। खबरें हैं कि तिरुवनंतपुरम, कोलम, पाथनमिट्टा, अलप्पुझा, एर्नाकुलम, कोझिकोड और वायनाड में केएसआरटीसी बसों में तोड़फोड़ की गई। वहीं, वायनाड में यातायात रोकने के लिए टायरों में आग लगा दी गई। इस विरोध के चलते कई लोग घायल भी हो गए।

केरल के कोझिकोड में विरोध से 15 वर्षीय बच्ची हुई घायल

केरल के कई शहरों में वाहनों पर पत्थर फेंके जाने की खबरें भी सामने आई हैं। कोझिकोड में एक 15 वर्षीय बच्ची पत्थरबाजी के बीच मामूली रूप से घायल हो गई है। इधर, कन्नूर में एक ऑटो रिक्शा ड्राइवर घायल हो गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अुसार, कन्नूर के नारायणपारा में अखबार बांटने जा रहे वाहन पर पेट्रोल बम फेंका गया।

PFI ने विरोध करते हुए भाजपा कार्यालय पर भी किया हमला

गुरुवार को पड़ी NIA की छापेमारी का विरोध करते हुए PFI ने कोयंबटूर में ज्वलनशील पदार्थ से भरी बोतल को भाजपा कार्यालय पर फेंका गया। पार्टी के एक नेता ने बताया, ‘पेट्रोल बम हमारे कार्यालय पर फेंका गया था। इसी तरह आतंकी हमले होते हैं। आज कई जगहों पर छापामार कार्रवाई हुई है। आज हिंदू मुन्ननी नेता का जन्मदिन है और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी राज्य में हैं।’

गुरुवार को हुई थी छापामार कार्रवाई

गुरुवार को नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी और प्रवर्तन निदेशालय ने पीएफआई के सैकड़ों ठिकानों पर छापामार कार्रवाई की थी। 13 राज्यों में हुई रेड के दौरान 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया था। खबर है कि जांच एजेंसियों ने टेरर फंडिंग समेत कई मामलों के चलते एक्शन लिया है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.