मुण्डका हादसे में 28 लोगों की मौत के लिए भाजपा की एमसीडी जिम्मेदार: सौरभ भारद्वाज

आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज (Saurabh Bharadwaj) ने बुधवार को पार्टी मुख्यालय में एक महत्वपूर्ण प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले दिल्ली के मुण्डका इलाके में एक गैर-कानूनी ढंग से चल रही इमारत में आग लग गई थी।

Share This News
Saurabh Bharadwaj,

नई दिल्ली: मुण्डका हादसा मामले में एमसीडी के तीन अधिकारियों के निलंबन से साबित हो गया है कि 28 लोगों की मौत के जिम्मेदार दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष सतीश उपाध्याय व मनोज तिवारी और वर्तमान अध्यक्ष आदेश गुप्ता हैं। इन पर भी गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज होना चाहिए। इनके संरक्षण में एमसीडी में भ्रष्टाचार होता रहा और ये लोग बराबर के जिम्मेदार हैं। ‘आप’ के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज (Saurabh Bharadwaj) ने आज एक प्रेस वार्ता के दौरान यह बातें कहीं।

मुण्डका हादसे के लिए एमसीडी के अधिकारी जिम्मेदार

उन्होंने कहा कि दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता, तीनों मेयर, पार्षदों और स्टैंडिंग कमेटी के अध्यक्षों पर कार्रवाई करने के बजाय निचले स्तर के तीन अधिकारियों को बली का बकरा बनाया गया। ‘आप’ के लगातार प्रयासों के बाद बीजेपी को मानना पड़ा कि मुण्डका हादसे के लिए एमसीडी के अधिकारी जिम्मेदार हैं। ‘आप’ की वरिष्ठ नेता आतिशी ने कहा कि एमसीडी के सिर्फ तीन अफसरों पर कार्रवाई काफी नहीं है। दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष सतीश उपाध्याय और मनोज तिवारी पर भी कार्रवाई होनी चाहिए।

भाजपा शासित एमसीडी ने सारा आरोप दिल्ली सरकार पर डालने की कोशिश की

आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता एवं ग्रेटर कैलाश से विधायक सौरभ भारद्वाज (Saurabh Bharadwaj) ने बुधवार को पार्टी मुख्यालय में एक महत्वपूर्ण प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले दिल्ली के मुण्डका इलाके में एक गैर-कानूनी ढंग से चल रही इमारत में आग लग गई थी। जिसमें करीब 28 लोगों की जान चली गई। लोगों के शरीर इस तरह जल गए कि उनकी पहचान के लिए डीएनए टेस्ट कराने पड़े। तीन दिनों से भाजपा के नेता शोर मचाकर किसी तरीके से सारा आरोप दिल्ली सरकार पर डालने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन दिल्ली सरकार ने इसके लिए मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए थे।

मुण्डका हादसे में भाजपा की टॉप लीडरशिप शामिल

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मैं आदेश गुप्ता दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष होने के साथ पार्षद भी हैं। जिस इमारत में आग लगी है, वह करीब 500 गज की लालडोरा एक्सटेशन की ज़मीन है। इमारत मेन रोड पर है तो सवाल ही नहीं उठता है कि वो किसी से छुपाकर बनाई गई हो। जाहिर है कि इतनी बड़ी इमारत गैर-कानूनी तरीके से बनी है। इसका मतलब है कि दिल्ली नगर निगम में रिश्वत खाई गई।

Read Also:- इस बार चुनाव के बाद एमसीडी में बनेगी आम आदमी पार्टी की सरकार: अरविंद केजरीवाल

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.