राजस्थान के बाद दिल्ली में भी मंदिर पर चलेगा बुलडोजर! मंदिर के गेट पर अतिक्रमण का नोटिस चिपकाया

राजस्थान में मंदिर तोड़े जाने का विवाद अभी खत्म भी हुआ कि अब दिल्ली के एक मंदिर को बुलडोजर से तोड़े जाने को लेकर नोटिस चिपकाने का मामला सामने आया है।

Share This News
दिल्ली में मंदिर को नोटिस

राजस्थान में मंदिर तोड़े जाने का विवाद अभी खत्म भी हुआ कि अब दिल्ली के एक मंदिर को बुलडोजर से तोड़े जाने को लेकर नोटिस चिपकाने का मामला सामने आया है। मामला दक्षिण दिल्ली से जुड़ा हुआ है। यह नोटिस केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय (MoHUA) द्वारा भेजा गया है।

नोटिस मिलने के बाद से ही स्थानीय लोगों में आक्रोश है। लोगों का कहना है कि वह किसी भी कीमत पर मंदिर को तोड़ने नहीं देंगे। इस बीच मंदिर को लेकर अब राजनीति भी शुरू हो गई है। बता दें कि यह मंदिर दक्षिणी दिल्ली के श्रीनिवासपुरी में स्थित है जिसका केंद्रीय एंजेंसियों द्वारा फिर से विकास किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री आज करेंगे अपनी 88वीं ‘मन की बात’, जम्मू-कश्मीर को 20 हजार करोड़ की देंगे सौगात

श्रीनिवासपुरी के नीलकंठ महादेव मंदिर के एंट्री गेट पर MoHUA की तरफ से नोटिस चिपकाया गया है। बताया जा रहा है कि यह नोटिस मंदिर की गेट पर 13 अप्रैल को चिपकाया गया था। नोटिस में मंदिर की जगह को सरकारी भूमि बताया गया है और जल्द से जल्द जगह को खाली करने का नोटिस दिया गया है।

नोटिस में दिल्ली हाईकोर्ट के डब्ल्यूपी (सी) 5234/2011 भीम सेन और एआर बनाम एमसीडी और अन्य आदेश का भी हवाला दिया गया। बता दें कि इस मामले में कोर्ट ने कहा था कि मंदिर में स्थापित मूर्ति वाली जगह को छोड़कर अन्य निर्माण को ध्वस्त किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- इन 5 ड्रिंक्स के साथ भूलकर भी दवा का सेवन न करें, सेहत के लिए होता है खतरनाक

मंदिर 25 साल पुराना

बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट का यह आदेश 10 साल पहले आया था। आप नेता ने आरोप लगाया है कि बीजेपी दुकानों, घरों के बाद अब मंदिरों से भी पैसे उगाही करने की प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि 10 साले पुराने आदेश को अब बीजेपी अचानक क्यों याद कर रही है?

बता दें कि श्रीनिवासपुरी स्थित यह मंदिर करीब 25 साल पुराना बताया जा रहा है। अब इस मंदिर को ध्वस्त करने का नोटिस मिला है। घटना पर आप विधायक आतिशी ने कहा कि जो भगवान राम के नाम पर वोट मांगते हैं, भगवान के गुलक से पैसा भी चाहते हैं।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.