बिहार में बनेगा 270 फीट ऊंचा विराट राम मंदिर, इस महत्वपूर्ण घटना से जुड़ा है यह स्थल

बिहार में विश्व का सबसे विशाल राम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। बिहार के पूर्वी चंपारण में इस मंदिर का निर्माण कार्य जारी है।

Share This News
विशाल राम मंदिर

बिहार में विश्व का सबसे विशाल राम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। बिहार के पूर्वी चंपारण में इस मंदिर का निर्माण कार्य जारी है। मान्यता है कि सीता से विवाह के बाद जनकपुर से लौटते समय भगवान राम की बारात यहां पर रुकी थी। यह विराट रामायण मंदिर 270 फीट ऊंचा होगा।

इस मंदिर की लंबाई 1080 फीट और चौड़ाई 540 फीट है। मंदिर के तीन तरफ सड़क है। अयोध्या से जनकपुर तक बन रहा राम-जानकी मार्ग भी विराट रामायण मंदिर से होकर गुजरेगा।

250 टन वजनी शिवलिंग की होगी स्थापना

इस मंदिर में दुनिया का सबसे बड़ा शिवलिंग स्थापित किया जाएगा। शिवलिंग ब्लैक ग्रेनाइट से बना होगा और 250 टन वजनी होगा। शिवलिंग की ऊंचाई 33 फीट होगी। इस शिवलिंग का निर्माण तमिलनाडु के महाबलीपुरम में हो रहा है। अभी तंजौर में 27 फीट ऊंचा शिवलिंग विश्व का सबसे ऊंचा शिवलिंग माना जाता है।

500 करोड़ रुपए लागत

पटना के महावीर मंदिर ट्रस्ट की ओर से बनवाए जा रहे इस विशाल राम मंदिर के निर्माण का कार्य नोएडा की एसबीएल कंस्ट्रक्शन कंपनी को दिया गया है। ट्रस्ट के सचिव आचार्य किशोर कुणाल का कहना है कि मंदिर की लागत 500 करोड़ होगी।

बता दें कि रामायण सर्किट में बिहार के कई स्थल भी आते हैं। भगवान राम के जीवन से जुड़ी कई बातें बिहार क्षेत्र से भी जुड़ी हुई हैं। बिहार में कई ऐसे स्थल हैं जो रामायण काल से जुड़े हुए हैं। रामायण काल से जुड़े होने के कारण इन स्थलों का महत्व बहुत अधिक है। हालांकि राज्य सरकारों की उदासीनता के चलते इस महत्वपूर्ण सर्किट का विकास नहीं तरीके से नहीं हो पाया है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.