Advertisement

पंजाब विधानसभा चुनाव: 22 किसान संगठनों ने मिलकर बनाई राजनीतिक पार्टी, चुनाव लड़ने का किया ऐलान

Share
Advertisement

संयुक्त किसान मोर्चा में शामिल रहे पंजाब के 32 में से 22 किसान संगठनों ने राजनीतिक मोर्चा बनाकर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. किसान नेताओं ने कहा है कि इस नई पार्टी का नाम संयुक्त समाज मोर्चा (यूनाइटेड सोशल फ्रंट) होगा. साथ ही ये पार्टी आने वाले वक्त में किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल के नेतृत्व में 2022 पंजाब विधानसभा चुनाव में अपनी किस्मत आज़माएगी.

Advertisement

मीडिया से बात करते हुए राजेवाल ने कहा कि पंजाब में बदलाव की ज़रूरत भी है और दरकार भी है और ये बेहद ज़रूरी है कि व्यवस्था को अब साफ किया जाए. उन्होंने आगे कहा कि पार्टी में केवल आम लोग होंगे. और इसमें पूंजीपतियों के लिए कोई जगह नहीं होगी. सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि पार्टी पंजाब की सभी 117 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी. पार्टी सभी सीटों पर अपने उम्मादीवार खड़े करने के लिए तैयार है.

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि क़ानूनों का विरोध करने के लिए किसान संगठनों ने संयुक्त किसान मोर्चा का गठन किया था. संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने साल भर से अधिक वक्त तक दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. सरकार ने इसी साल शीतकालीन सत्र में तीनों कृषि क़ानूनों को वापस ले लिया.

कृषि क़ानूनों के निरस्त किये जाने के बाद से ये अटकलें थीं कि किसान संगठन राजनीति में कदम रख सकते हैं. संयुक्त किसान मोर्चा में शामिल रहे कुछ किसान संगठनों ने बयान जारी कर कहा है कि मोर्चा चुनाव नहीं लड़ेगा और कोई भी उसके नाम का इस्तेमाल चुनाव में नहीं करेगा. संयुक्त किसान मोर्चा में पूरे भारत के 400 से भी अधिक संगठन शामिल थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें