Advertisement

शीर्ष न्यायालय के लगभग 150 अधिकारी कोरोना पॉजिटिव, इलाहाबाद हाईकोर्ट के 8 जज भी संक्रमित

Share
Advertisement

नई दिल्ली/ लखनऊ: कोरोना मामलों में लगातार इजाफा देखते हुए सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने वकीलों से कोर्ट न आने का अनुरोध किया है। बार एसोसिएशन ने बताया कि अब तक सुप्रीम कोर्ट के कम से कम 150 रजिस्ट्री अधिकारी और स्टाफ सदस्य कोराना संक्रमित पाए गए हैं।

Advertisement

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने वकीलों को मेसैज का जरिए कहा है कि, कोर्ट की ओर से कोई आधिकारिक सर्कुलर या निर्देश नहीं है, जिसमें वकीलों को सुप्रीम कोर्ट में प्रवेश पर रोक लगाई गई है। लेकिन यह सलाह है कि जब तक यह अत्यंत आवश्यक न हो, अदालत के उच्च सुरक्षा क्षेत्र में प्रवेश न करें।

बता दें सुप्रीम कोर्ट के 4 जज भी कोरोना संक्रमित पाए गए है। इसके साथ बॉम्बे, उत्तराखंड, कलकत्ता और इलाहाबाद उच्च न्यायालयों के जज भी कोरोना संक्रमित पाए गए है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट के 8 जजों के कोरोना संक्रमित होने के बाद अदालत ने वर्चुअल सुनवाई करने का फैसला लिया है। बता दें इलाहाबाद हाईकोर्ट के प्रिंसिपल सीट से 5 जज कोरोना संक्रमित पाए गए। वहीं लखनऊ बेंच से भी 3 जज संक्रमित पाए गए हैं।

इसके साथ ही नैनीताल उच्च न्यायालय ने भी वर्चुअल मोड के माध्यम से मामलों की सुनवाई करने का फैसला किया है। जारी अधिसूचना के अनुसार, देहरादून, नैनीताल, हल्द्वानी, रामनगर और चंपावत की निचली अदालतें भी सुनवाई के वर्चुअल मोड में शिफ्ट की जाएंगी।

Read Also: SC के न्यायाधीशों को ‘चेतावनी’, पीएम सुरक्षा उल्लंघन को लेकर कई वकीलों को आया अज्ञात फ़ोन कॉल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *