जानिए क्यों और क्या होते हैं ओवेरियन सिस्ट? – Ovarian Cyst in Hindi

नई दिल्ली। महिलाओं को वैसे तो बहुत सी हेल्थ प्रोब्लम्स और बिमारियों से अक्सर जूझना पड़ता है, परन्तु आजकल की महिलाओं में एक बहुत ही सामान्य बीमारी पायी जाती है जो है ओवरी में सिस्ट(Ovarian cyst in Hindi) होना। कभी कभी ओवेरी की भीतरी सतहों पर पानी से भरी थैलियाँ बन जाती हैं जिन्हे सिस्ट (Ovarian cyst meaning in Hindi) कहते हैं।

अनचाहे बाल, चेहरे पर बाल, लगातार वजन का बढ़ना, अनियमित पीरियड्स इत्यादि ओवरी सिस्ट के लक्षण होते हैं जिन्हे आपको अनदेखा नहीं करना चाहिए। ये सभी लक्षण PCOS नामक बीमारी के शुरूआती लक्षण भी हो सकते हैं। बाँझपन और कैंसर तक का खतरा पैदा करने वाली यह बीमारी हॉर्मोन्स की अनियमिततओं के कारण होती है।

आइये, ओवरी में सिस्ट (Ovarian cyst in Hindi) के बारे और ओवेरियन सिस्ट साइज फॉर सर्जरी के बारे में विस्तार से जानते हैं ।

  • क्या आप जानते हैं कि कुछ खास प्रकार के खाद्य पदार्थों के सेवन से हॉर्मोन्स से सम्बंधित समस्याएं यानि पॉलीसिस्टिकओवरी सिंड्रोम (PCOS ) जैसी बीमारियाँ हो सकती हैं।
  • चेहरे पर अनचाहे बाल और अचानक बजन कम होना इसके मुख्य लक्षण होते हैं।
  • ओवरी में सिस्ट होने का मतलब यह नहीं होता कि आप कभी माँ नहीं बन सकती।

Ovarian Cyst meaning in Hindi: ओवेरियन सिस्ट, ओवरी में या इसकी सतह पर द्रव से भरे थैले के रूप में होते हैं। महिलाओं में यूटेरस के दोनों तरफ दो अंडाशय यानि 2 ओवरी होती हैं – जिनकी आकृति और आकार बादाम के जैसी होती है। अंडे (ओवा), जो ओवरी में विकसित और परिपक्व होते हैं, और बच्चे के जन्म के वर्षों के दौरान मासिक चक्र में ओवरी से निकलते हैं।

बहुत सी महिलाओं को उनके जीवन में कभी न कभी ये सिस्ट होते हैं। अधिकांशतः अंडाशय मे सिस्ट (Ovarian cyst meaning in Hindi) छोटे होते हैं या कोई असुविधा उत्त्पन्न नहीं करते हैं और अक्सर हानिरहित होते हैं। ज्यादातर बिना किसी उपचार के ही ठीक होजाते हैं और कुछ महीनों के भीतर गायब हो जाते हैं।

हालांकि, कुछ ओवेरियन सिस्ट जो टूट जाते हैं – गंभीर लक्षण पैदा कर सकते हैं। अपने स्वास्थ्य की रक्षा के लिए, नियमित रूप से श्रोणि परीक्षण करायें और उन लक्षणों को जानें जो संभावित गंभीर समस्या का संकेत दे सकते हैं।

ओवेरियन सिस्ट क्यों होता है? (Causes of Ovarian Cyst in Hindi)

ओवेरियन सिस्ट होने के सबसे आम कारणों में निम्न शामिल हैं:

  1. हार्मोनल समस्याएं: फंक्शनल सिस्ट या कार्यात्मक सिस्ट आमतौर पर बिना किसी इलाज के अपने आप चले जाते हैं। ऐसा हार्मोनल समस्याओं के कारण हो सकता है या आपको ओवुलेट करने में मदद करने के लिए उपयोग की जाने वाली दवाओं के कारण हो सकता है।
  2. एंडोमेट्रियोसिस: एंडोमेट्रियोसिस से पीड़ित महिलाएं एक प्रकार का ओवेरियन सिस्ट विकसित कर सकती हैं जिसे एंडोमेट्रियोमा कहा जाता है। एंडोमेट्रियोसिस ऊतक आपकी ओवरी से जुड़ कर सिस्ट का निर्माण कर सकता है। ये सिस्ट सेक्स के दौरान और मासिक धर्म के दौरान दर्दनाक हो सकते हैं।
  3. गर्भावस्था: ओवेरियन सिस्ट आमतौर पर प्रारंभिक गर्भावस्था में विकसित होती है ताकि गर्भावस्था का समर्थन करने में मदद मिल सके जब तक कि नाल न बन जाए। कभी-कभी, गर्भावस्था के बाद तक सिस्ट ओवरी पर रहती है और इसे निकलने के लिए सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है।
  4. गंभीर पैल्विक संक्रमण: गंभीर संक्रमण या इन्फेक्शन ओवरी और फैलोपियन ट्यूब में फैल सकता है और आपकी ओवरी में सिस्ट के गठन का कारण बन सकता है।

आइये जानते हैं ओवेरियन सिस्ट होने पर सामान्य लक्षण कौन- कौन से हो सकते हैं।

ओवेरियन सिस्ट के लक्षण – Symptoms of Ovarian Cyst in Hindi

कई बार, ओवेरियन सिस्ट किसी भी लक्षण (Symptoms of Ovarian cyst in Hindi) का कारण नहीं बनते हैं। हालांकि, जैसे – जैसे सिस्ट बढ़ता है तो कुछ लक्षण अवश्य दिखाई दे सकते हैं जिनमे निम्न शामिल हो सकते हैं:

  • पेट फूलना या सूजन
  • मल त्याग करने में दर्द होना
  • मासिक धर्म से पहले या इनके दौरान पेल्विक दर्द
  • संभोग के समय दर्द होना
  • पीठ के निचले हिस्से या जांघों में दर्द रहना
  • स्तन में कोमलता महसूस होना
  • जी मिचलाना और उल्टी की समस्या

ओवेरियन सिस्ट के बढ़ने पर कुछ लक्षण गंभीर लक्षणों में परिवर्तित हो सकते हैं जिनमे तत्काल चिकित्सा की आवश्यकता होती है, ये लक्षण इस प्रकार हैं:

  • गंभीर या तेज पेल्विक दर्द
  • बुखार आना
  • बेहोशी या चक्कर आना
  • तेजी से साँस लेना

ये लक्षण एक टूटे हुई सिस्ट या ओवेरियन मरोड़ का संकेत हो सकते हैं। यदि जल्दी इलाज न किया जाए तो दोनों जटिलताओं के गंभीर परिणाम भी हो सकते हैं।

ओवेरियन सिस्ट का इलाज – Treatment of Ovarian Cyst in Hindi

यदि ओवरी से सिस्ट अपने आप खत्म नहीं होता या यदि यह बड़ा हो जाता है तो आपका डॉक्टर सिस्ट को कम करने या हटाने के लिए ओवेरियन सिस्ट ट्रीटमेंट (treatment of Ovarian Cyst in Hindi) की सलाह दे सकता है । कुछ ओवेरियन सिस्ट ट्रीटमेंट इस प्रकार हैं:

गर्भनिरोधक गोलियाँ

यदि आपको बार बार ओवरियन सिस्ट बनने की समस्या है तो आपका डॉक्टर आपको ओव्यूलेशन को रोकने और नए सिस्ट के विकास को रोकने के लिए कुछ गर्भ निरोधक दवाईयाँ दे सकता है। ओरल गर्भनिरोधक आपके ओवेरियन कैंसर के जोखिम को भी कम कर सकते हैं। जैसा की आपको पता ही होगा मेनोपॉज के बाद महिलाओं में ओवेरियन कैंसर का खतरा अधिक होता है, अतः ये ओरल गर्भनिरोधक दवाईयाँ इसके जोखिम को कम कर सकती हैं।

लेप्रोस्कोपी

यदि सिस्ट छोटा है और कैंसर का पता लगाने के लिए किये गए इमेजिंग टेस्ट से ये परिणाम आता है, तो आपका डॉक्टर सर्जरी द्वारा सिस्ट को हटाने के लिए लेप्रोस्कोपी कर सकता है। इस प्रक्रिया में आपका डॉक्टर आपकी नाभि के पास एक छोटा चीरा बनायेगा और फिर सिस्ट को हटाने के लिए आपके पेट में एक छोटा सा उपकरण घुसाकर सिस्ट को निकल देगा।

लैपरोटोमी

यदि सिस्ट का साइज बड़ा है, तो आपका डॉक्टर आपके पेट में एक बड़े चीरा के माध्यम से सर्जरी कर सकता है। वे एक तत्काल बायोप्सी का संचालन करेंगे, और यदि वे निर्धारित करते हैं कि सिस्ट कैंसर है, तो वे आपके अंडाशय और गर्भाशय को हटाने के लिए एक हिस्टेरेक्टॉमी कर सकते हैं।

आइये जानते हैं की सर्जरी किन किन स्थितियों में और सर्जरी के लिए सिस्ट का साइज कितना बड़ा होना चाहिए:

ओवेरियन सिस्ट साइज फॉर सर्जरी – Ovarian Cyst Size For Surgery

अधिकतर मामलों में ओवेरियन सिस्ट के इलाज के लिए सर्जरी या इलाज की भी आवश्यकता नहीं होती है परन्तु कुछ मामलों में जब सिस्ट का अधिक विकास हो जाता है तब उस स्थिति में ओवेरियन सिस्ट ट्रीटमेंट की आवश्यकता हो सकती है। यहाँ हम जानेंगे की ओवेरियन सिस्ट साइज फॉर सर्जरी (Ovarian Cyst for Surgery) कितना होना चाहिए?

सामान्यतः सिस्ट का आकार एक सेंटीमीटर (एक-आधा इंच) से कम 10 सेंटीमीटर (4 इंच) से अधिक तक होता है। निम्नलिखित मामलों में सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है –

  • यदि सिस्ट लगातार दर्द या दबाव पैदा कर रहा हो, या टूट या मुड़ गयी हो।
  • एंडोमेट्रियोसिस के कारण होने वाले सिस्ट को प्रजनन कारणों से हटा दिया जाता है।
  • बड़े सिस्ट (> 5 से 10 सेमी) को छोटे सिस्ट की तुलना में सर्जरी द्वारा हटाने की आवश्यकता होती है। हालांकि, एक बड़े आकार के सिस्ट का अनुमान नहीं लगाया जा सकता है कि क्या एक कैंसर युक्त सिस्ट है।
  • 5 सेमी व्यास से बड़ी सिस्ट को डॉक्टर सर्जरी करके निकाल देते हैं।
  • यदि सिस्ट कैंसर के लिए संदिग्ध है। यदि आपके पास डिम्बग्रंथि के कैंसर के लिए जोखिम कारक हैं या सिस्ट इमेजिंग अध्ययन पर संभावित कैंसर दिखता है, तो आपका स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता सर्जरी कराने की सलाह दे सकता है।

निष्कर्ष

अधिकांश सिस्ट कुछ महीनों में स्वतः ही चले जाते हैं। हालांकि, बार बार आने वाले ओवेरियनसिस्ट प्रीमेनोपॉज़ल महिलाओं और हार्मोन असंतुलन वाली महिलाओं में हो सकता है।

यदि अनुपचारित छोड़ दिया जाता है, तो कुछ सिस्ट प्रजनन क्षमता को कम कर सकते हैं। यह एंडोमेट्रियोमास और पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के साथ आम है। प्रजनन क्षमता में सुधार करने के लिए, आपका डॉक्टर सिस्ट को हटा या सिकोड़ सकता है। कार्यात्मक सिस्ट, सिस्टेडेनोमा, और डर्मॉइड सिस्ट प्रजनन क्षमता को प्रभावित नहीं करते हैं।

हालांकि कुछ डॉक्टर ओवेरियन सिस्ट (Ovarian Cyst in Hindi) के साथ “प्रतीक्षा करें और देखें” दृष्टिकोण लेते हैं, आपका डॉक्टर रजोनिवृत्ति के बाद अंडाशय पर विकसित होने वाले किसी भी सिस्ट या विकास को हटाने और जांचने के लिए सर्जरी की सिफारिश कर सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि रजोनिवृत्ति के बाद एक कैंसर सिस्ट या ओवेरियन कैंसर के विकास का खतरा बढ़ जाता है। हालांकि, ओवेरियनसिस्ट ओवेरियन कैंसर के जोखिम को नहीं बढ़ाते हैं। ओवेरियन सिस्ट साइज फॉर सर्जरी 5 सेंटीमीटर व्यास से बड़ा होने पर कुछ डॉक्टर सिस्ट निकाल देते हैं।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.