28 अगस्त को गिराए जाएंगे Supertech के दोनों टावर, CBRI ने दी मंजूरी

Supertech Twin Towers: केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान (सीबीआरआई) ने एडफिस इंजीनियरिंग को नोएडा के सेक्टर-93-ए स्थित सुपरटेक के दोनों टावर (एपेक्स-सियान) को ध्वस्त करने की मंजूरी दे दी है। इसके बाद नोएडा प्राधिकरण ने दावा किया है कि टावरों को 28 अगस्त को गिराया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट में आज यानी बृहस्पतिवार को इस मामले में स्थिति रिपोर्ट पेश की जाएगी। इस पर सुनवाई के बाद स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। बुधवार को नोएडा प्राधिकरण में एडफिस इंजीनियरिंग, सुपरटेक प्रबंधन और सीबीआरआई के प्रतिनिधियों की बैठक हुई। 

विस्फोटक लगाने की मिली मंजूरी

सीबीआरआई ने एडफिस इंजीनियरिग को विस्फोटक लगाने की मंजूरी दे दी है लेकिन सुपरटेक प्रबंधन पर संरचनात्मक ऑडिट को लेकर पेंच फंसा दिया है। सुपरटेक प्रबंधन ने अभी तक ध्वस्त होने वाले टावरों के आसपास के अन्य टावरों के संरचनात्मक ऑडिट की रिपोर्ट पेश नहीं की है। सुपरटेक प्रबंधन ने 15 अगस्त तक यह रिपोर्ट देने का दावा किया है। गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय में 29 जुलाई को हुई सुनवाई में सीबीआरआई ने सुपरटेक प्रबंधन से संरचनात्मक ऑडिट की रिपोर्ट की मांगी थी और एडफिस इंजीनियरिग से कुछ जानकारियां मांगी थी। 

100 करोड़ रुपये का बीमा भी करवाया गया

पुलिस ने इमारत में विस्फोटक लगाने के लिए एनओसी जारी कर दी है। आसपास की प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचने की सूरत में 100 करोड़ रुपये का इंश्योरेंस भी कराया गया है। पलवल की मैसेज सोलर एक्सप्लोजिव एजेंसी से विस्फोटक नोएडा लाने की पूरी तैयारी हो चुकी है। टावरों में चैन लिंक्स, जियोटेक्सटाइल क्लॉथ के साथ कॉलम की रैपिंग का काम पूरा किया जा चुका है। बताया जा रहा है कि गर्मी, हवा और बारिश के कारण टावरों को नुकसान पहुंचने की संभावना है। टावर के बेसमेंट 2 में बने इंपैक्ट कुशन बारिश का पानी रुकने के कारण निकल सकते हैं। इन कुशंस को विस्फोट के दौरान कंपन रोकने के लिए लगाया गया है। बता दें कि टावरों को गिराने के लिए निर्मित विस्फोटक की सेल्फ लाइफ सीमित होती है। मियाद खत्म होने के बाद ये विस्फोटक किसी काम के नहीं रहेंगे।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *