15 August 2022: गिरफ्तार युवकों की प्लानिंग का दिल्ली पुलिस और पंजाब पुलिस ने किया भंडाफोड़, ISI से जुड़े तार ?

नई दिल्ली । दिल्ली में 15 अगस्त से ठीक 3 दिन पहले शुक्रवार को पंजाब पुलिस की काउंटर इंटेलिजेंस टीम ने दिल्ली पुलिस के साथ एक जॉइंट ऑपेरशन के तहत द्वारका के गोयला डेरी इलाके से 4 संदिग्धों को गिरफ्तार किया था. पुलिस दल ने इस गिरफ्तारी के साथ ही स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली में आतंकवादी हमले को अंजाम देने की कोशिश में जुटे आईएसआई समर्थित मॉड्यूल का पर्दाफाश करने का दावा किया।

दरअसल पंजाब पुलिस ने दिल्ली पुलिस को यहां द्वारका जिले के छावला थाना क्षेत्र में एक घर के अंदर 4 ऐसे लड़कों की मौजूदगी की जानकारी दी, जो मोगा में एक केस में लिप्त थे. ये चारों लड़के गोयला डेरी इलाके में किराये के मकान में रहते थे, जहां से दिल्ली और पंजाब पुलिस की टीम ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया।

इनमें से 2 आरोपी पंजाब के वांटेड थे और दोनों कनाडा में रह रहे गैंगस्टर अर्श डल्ला और ऑस्ट्रेलिया बेस्ड गैंगस्टर गुरजंट सिंह द्वारा चलाए जा रहे आतंकवादी मड्यूल के सदस्य थे, जबकि 2 लड़के दिल्ली के रहने वाले हैं. इनमें से एक विपिन जाखड़ गोयला डेरी इलाके का ही रहने वाला है. पेशे से कारोबारी जाखड़ को लॉजिस्टिक सपोर्ट मुहैया कराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस के मुताबिक, विपिन जाखड़ ही इन सभी को पैसों और लॉजिस्टिक की सहायता प्रदान कर रहा था. इन लोगों को एक ठिकाने से दूसरे ठिकाने पर आने-जाने में भी मदद कर रहा था. जिस घर में ये चारों आरोपी रह रहे थे, वहां पर अब ताला लटका है. यहां आसपास के काम करने वाले लोग भी इनके बारे में कुछ भी बताने से बचते रहे।

आरोपी विपिन के पिता ने अपने बेटे को निर्दोष बताते हुए कहा कि उनके एक रिश्तेदार सनी ने उनके बेटे को इस मामले में फंसाया है. सब उसी की वजह से हुआ है. उनके बेटे के खिलाफ़ कोई मामला नहीं है सिर्फ दहेज मामला उसके ऊपर चल रहा है।

इन चारों की दिल्ली से गिरफ्तारी के बाद पंजाब पुलिस इन्हें रिमांड में लेकर पूछताछ कर रही है. वहीं स्पेशल सेल की टीमें भी अब इनके रिकॉर्ड खंगाल रही हैं कि ये सभी किस वजह से दिल्ली में पनाह लिए हुए थे, क्योंकि जिन गैंगस्टरों से इनके लिंक हैं, वह पाकिस्तान में बैठे आतंकी रिन्दा के संपर्क में था।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.