देश-देश के कोने-कोने में युवाओं का जमकर बवाल,बिहार के 15 जिलों में इंटरनेट बंद

नई दिल्ली। अग्निपथ योजना को लेकर बिहार और यूपी में लगातार मच रहा बवाल युवा लगातार योजना के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन कर रहा है। प्रदर्शन को देखते हुए बिहार सरकार ने 15 जिलों में इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी है. वहीं, देशभर में जारी विरोध-प्रदर्शन के बीच गृह मंत्रालय ने असम राइफल्स और CAPF में अग्निवीरों के लिए 10 फीसदी आरक्षण का ऐलान किया है. अग्निपथ की आग अभी शांत होती नहीं दिखाई दे रही है। बिहार और उत्तर प्रदेश में सेना की भर्ती अग्निपथ योजना के खिलाफ युवाओं का विरोध-प्रदर्शन जारी है. देश के अलग-अलग सभी राज्यों में युवा सड़कों पर विरोध-प्रदर्शन है। बिहार के जहानाबाद में युवा प्रदर्शनकारियों ने एक ट्रक और एक बस को आग लगा दी. वहीं, उत्तर प्रदेश के जौनपुर में भी युवाओं ने प्रदर्शन किया।


मसौढ़ी में युवाओं ने मचाई भारी हिंसा

बिहार के मसौढ़ी में प्रदर्शन के चलते सुबह से ही दुकानें बंद है. युवकों ने पूरे शहर और जीआरपी को भी बंधक बना के रखा हुआ है. युवक सड़क से लेकर रेलवे स्टेशन तक पत्थरबाजी कर रहे हैं. दोनों ओर से रूक रूक कर फायरिंग हो रही है. प्रदर्शनकारी युवकों ने जीआरपी कार्यालय के पास सरकारी गाड़ी जला दी है. भारी प्रदर्शन के चलते मसौढ़ी में पुलिस-प्रशासन ने कई युवा प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया है. यहां पर पुलिस ने हवाई फायरिंग की है. इसके अलावा प्रदर्शनकारियों को कंट्रोल करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी दागे हैं।


सुप्रीम कोर्ट में की गई याचिका दायर

अग्निपथ स्कीम का विरोध करने के दौरान हुई हिंसा की जांच करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गई है. इस याचिका में मांग की गई है कि सरकार इस बात का आकलन करे कि हिंसक प्रदर्शन की वजह से सरकारी संपत्ति को कितना नुकसान हुआ है. इस याचिका में ये भी प्रार्थना की गई है कि सुप्रीम कोर्ट से सेवानिवृत एक जज की अध्यक्षता में एक्सपर्ट कमेटी बनाई जाए. ये एक्सपर्ट कमेटी इस पूरे स्कीम का अध्ययन करे और राष्ट्रीय सुरक्षा पर पड़ने वाले इसके प्रभाव की भी जांच करे।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के घर अहम बैठक
अग्निपथ रिक्रूटमेंट स्कीम पर विचार करने के लिए सेना के तीनों अंगों के प्रमुख दिल्ली में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के घर पहुंच चुके हैं. वहां इनके बीच अग्निपथ भर्ती स्कीम पर चर्चा हो रही है. आर्मी चीफ मनोज पांडे, वायुसेना चीफ विवेक राम चौधरी और नेवी चीफ आर हरि कुमार इस मीटिंग में शामिल हो रहे हैं।

अग्निवीरों के पास होंगे 2-3 विकल्प- एयर फोर्स चीफ
भारतीय वायु सेना के प्रमुख ने कहा है कि अग्निवीरों के सामने दो-तीन विकल्प होंगे. उन्होंने ये विकल्प भी गिनाए और कहा कि अग्निवीर प्रतियोगी परीक्षा के जरिये वायु सेना में शामिल हो सकेंगे जिसके बाद उन्हें पेंशन भी मिलेगी. दूसरा रास्ता ये है कि वे उच्च शिक्षा ग्रहण करें या एंटरप्रेन्योर बन जाएं. अग्निवीर सरकारी या निजी क्षेत्र में नौकरी भी कर सकेंगे।

युवाओं की मांग अग्निपथ योजना को वापस ले सरकार’

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा है कि केंद्र सरकार को अग्निपथ योजना वापस ले लेनी चाहिए. उन्होंने ये भी कहा है कि सरकार को उन हजारों युवाओं को लिखित परीक्षा में शामिल होने और देश सेवा का मौका देना चाहिए जो दो साल से फिजिकल टेस्ट पास कर भर्ती फाइनल होने का इंतजार कर रहे हैं. अग्निपथ योजना के खिलाफ दिल्ली के धनसा बस स्टैंड के करीब MCD ऑफिस के गेट पर प्रदर्शन कर रहे 18 प्रदर्शनकारियों को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी का ये मामला एक दिन पहले का है
यूपी के मिर्जापुर में भी अग्निपथ योजना को लेकर विरोध-प्रदर्शन तेज हो गया है. रेलवे स्टेशन के बाहर प्रदर्शनकारियों ने बस में तोड़फोड़ की है.अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन को देखते हुए हरियाणा सरकार ने आज भी पलवल और बल्लभगढ़ में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं. जिला प्रशासन ने युवाओं से शांति से अपना पक्ष रखने की अपील करते हुए कहा है कि एफआईआर से उनका भविष्य चौपट हो सकता है।

पुलिस ने फ्लैग मार्च भी किया
यूपी के जौनपुर जिले में प्रदर्शनकारियों ने रोडवेज बस को आग लगा दी. प्रदर्शनकारियों ने रोडवेज बस में सवार यात्रियों को नीचे उतार लिया और इसके बाद बस में तोड़फोड़ की. प्रदर्शनकारियों ने जौनपुर जिले के बदलापुर थाना क्षेत्र के पूरामुकुंद गांव के करीब निर्माणाधीन फोरलेन पर बस को आग लगा दी. चंदौली डिपो की ये बस लखनऊ से वाराणसी जा रही थी.
सेना में भर्ती की अग्निपथ योजना के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन को लेकर पुलिस-प्रशासन सख्त हो गया है. वाराणसी और मथुरा समेत नौ जिलों में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ 15 केस दर्ज किए गए हैं. अब तक 277 प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार लोगों में 183 को शांति भंग में निरुद्ध किया गया है।

अग्निपथ योजना के विरोध में दर्जनों प्रदर्शनकारी चंदौली में भी रेलवे ट्रैक पर उतर आए. डीडीयू-बक्सर रेल रूट पर ट्रैक पर उतरे युवाओं ने रेल रुट जाम कर दिया. युवा रेल पटरी पर ही कसरत करने लगे. मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह समझा-बुझाकर रेल ट्रैक खाली कराया. गृह मंत्रालय ने असम राइफल्स और CAPF में अग्निवीरों के लिए 10 फीसदी आरक्षण का ऐलान किया है. मंत्रालय की ओर से ये भी कहा गया है कि चार साल की सेवा पूरी कर चुके अग्निवीरों को अधिकतम आयु की सीमा में भी तीन साल की छूट दी जाएगी. पहले बैच के अग्निवीरों के लिए छूट की ये सीमा 5 साल रहेगी।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.